जगजीत को 'मार डालने' वाला टीवी जर्नलिस्ट सस्पेंड, ब्यूरो चीफ को नोटिस

E-mail Print PDF

हाल में ही लांच हुए न्यूज चैनल 'न्यूज एक्सप्रेस' की इन दिनों काफी किरकिरी हो रही है. मशहूर गजल गायक जगजीत सिंह के निधन की इस न्यूज चैनल ने परसों झूठी खबर चला दी थी. यह गलत खबर देने वाले न्यूज एक्सप्रेस के मुंबई ब्यूरो के रिपोर्टर नसीम खान को सस्पेंड कर दिया गया है. चर्चा है कि नसीम को बर्खास्त भी किया जा सकता है. मुंबई के ब्यूरो चीफ विवेक अग्रवाल को न्यूज एक्सप्रेस प्रबंधन ने नोटिस जारी किया है.

साथ ही उन्हें चेतावनी दी गई है कि ऐसी भयंकर गड़बड़ी अब फिर बर्दाश्त नहीं की जाएगी. कुछ लोग इस प्रकरण में न्यूज एंकर को घसीट रहे हैं पर सूत्रों का कहना है कि न्यूज एंकर किसी गलत खबर के लिए इसलिए जिम्मेदार नहीं होता क्योंकि वह तो टीपी पर दर्ज लाइनों को पढ़ता-बोलता है. इस घटनाक्रम की खबर के प्रसारण के वक्त न्यूज एंकर दिनेश कांडपाल थे.

न्यूज एक्सप्रेस से जुड़े लोगों का कहना है कि जगजीत के मरने की झूठी खबर प्रसारित करना इस नए चैनल की बन रही साख पर बड़ा झटका है. छोटी सी असावधानी के चलते एक नए नवेले ब्रांड को काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि मुबंई के रिपोर्टर और ब्यूरो चीफ ने नोएडा मुख्यालय द्वारा बार-बार क्रासचेक किए जाने की अपील के बाद भी यही कहते-बताते रहे कि निधन की खबर पक्की है, इसे हर हाल में चला दिया जाए. खबर जब चलने लगी तो दस बीस मिनट बाद उन्हीं रिपोर्टर और ब्यूरो चीफ महोदय का फोन आने लगा कि कृपया खबर हटा दें, जगजीत के परिजन उनके निधन की सूचना की पुष्टि नहीं कर रहे हैं.

सवाल ये उठता है कि मुंबई ब्यूरो चीफ विवेक अग्रवाल जो वरिष्ठ और अनुभवी पत्रकार हैं, कैसे बिना परिजनों और अस्पताल की पुष्टि के किसी की मौत की खबर चलाने की अनुमति दे सकते हैं. अगर यह सब विवेक अग्रवाल की सहमति से हुआ है तो रिपोर्टर को कम दंड मिलना चाहिए, ब्यूरो चीफ को ज्यादा. सस्पेंसन और टर्मिनेशन की कार्रवाई विवेक अग्रवाल के खिलाफ भी की जानी चाहिए.


AddThis