चुनाव पूर्व सर्वे दिखाने पर टोटल टीवी का प्रसारण बंद

E-mail Print PDF

: चैनल ने अखबारों में दिया विज्ञापन : टोटल टीवी चैनल को हिसार लोकसभा उपचुनाव के संदर्भ में चुनाव पूर्व सर्वेक्षण दिखाना महंगा पड़ गया है। हिसार समेत हरियाणा के कई जिलों में इस चैनल का केबल टीवी के जरिए प्रसारण बंद करवा दिया है। चैनल ने अखबारों में विज्ञापन देकर दर्शकों को इसकी सूचना दी है।

आपको बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल के निधन के बाद से हिसार लोकसभा सीट खाली हो गई थी। वह यहां से हरियाणा जनहित कांग्रेस पार्टी के सांसद थे। अब इस सीट पर 13 अक्टूबर को चुनाव होना है। यहां से जनहित कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार भजनलाल के पुत्र कुलदीप बिश्नोई हैं, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व वाली पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल ने अजय चौटाला को उम्मीदवार बनाया है। वहीं कांग्रेस ने पूर्व सासद जयप्रकाश को चुनाव मैदान में उतारा है। इस चुनाव में कुलदीप बिश्नोई को भारतीय जनता पार्टी का समर्थन हासिल है, जबकि वामपंथी एवं अन्य कुछ छोटे क्षेत्रीय दलों ने इनेलो को समर्थन दिया है।

कांग्रेस पार्टी विकास कार्यों का दम भरकर अकेले चुनाव मैदान में उतरी है। उसने हरियाणा के सभी मंत्रियों और विधायकों को हिसार लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले विधानसभा हलकों में प्रचार की जिम्मेदारी सौंपी है। ऐसे में कहा जा सकता है कि यहां से तीनों ही प्रमुख उम्मीदवारों की प्रतिष्ठा दांव है। चुनाव प्रचार के इसी दौर में टोटल टीवी ने चुनाव पूर्व सर्वेक्षण शुरू कर दिया। यह सर्वे विधानसभा हलकों के हिसाब से है। टोटल टीवी का यही सर्वेक्षण कांग्रेस पार्टी को रास नहीं आ रहा। दरअसल इस सर्वेक्षण में कांग्रेस उम्मीदवार को कई हलकों में तीसरे नंबर पर दिखाया गया है। यही बात लगता है कांग्रेस को खटक गई है और अब टोटल टीवी चैनल का केबल के जरिए प्रसारण बंद कर दिया गया है।

अखबार में देना पड़ा विज्ञापन : केबल टीवी चैनल के जरिए टोटल टीवी का प्रसारण बंद होने के बाद अब प्रबंधन को विज्ञापन का सहारा लेना पड़ा है। दैनिक भास्कर में आज प्रकाशित विज्ञापन के अनुसार किन्हीं कारणों के चलते केबल पर टोटल टीवी का प्रसारण बंद कर दिया गया है। चैनल का कहना है कि हमें हर रोज हस बारे में सैकड़ों फोन काल्स मिल रही हैं। कुछ ताकतें सच्चाई का सामना करने के लिए तैयार नहीं है। वो लोकतंत्र के चौथे स्तंभ प्रेस की आजादी का दम तो भरते हैं, पर स्वार्थवश इसका गला घोंटने में भी इन्हें परहेज नहीं है। ऐसे में समझा जा सकता है कि चैनल का इशारा किस ओर है।

दीपक खोखर की रिपोर्ट.


AddThis