महुआ ने कोलकाता से अपना बोरिया-बिस्‍तरा बांधा, 80 से ज्‍यादा की नौकरी दांव पर

E-mail Print PDF

: अब नोएडा से संचालित होगा महुआ इंटरटेनमेंट : कर्मचारियों को एक महीने की नोटिस : मैनेजमेंट ने कहा- नोएडा पहुंचो या नौकरी छोड़ो : नोएडा। महुआ प्रबंधन ने अपने बांग्‍ला इंटरटेनमेंट चैनल का बोरिया-बिस्‍तरा कोलकाता से बांध लिया है। सामान पैक करके इस चैनल को नोएडा शिफ्ट करने की तैयारियां शुरू हो गयी हैं। इंटरटेनमेंट के कर्मचारियों को एक मास का नोटिस थमाते हुए कह दिया गया है कि वे या तो नोएडा दफ्तर में ज्‍वाइन करें या फिर संस्‍थान से नमस्‍ते कर लें।

प्रबंधन के इस फैसले से इस चैनल के 80 से भी ज्‍यादा कर्मचारियों की नौकरी दांव पर लग गयी है। यह सभी अल्‍पवेतन भोगी कर्मचारी हैं। बताते हैं कि प्रबंधन ने यह फैसला इन कर्मचारियों से खुद ही अपना पिंड छुडाने के लिए किया है ताकि यह कर्मचारी खुद ही नौकरी छोड़ दें ताकि श्रमकानूनों की आंच प्रबंधन के चेहरे का झुलसा न सके। प्रबंधन के इस फैसले से महुआ इंटरटेनमेंट सहित बांग्‍ला मीडिया में हड़कंप मच गया है।

खबर है कि महुआ ग्रुप ने महुआ बांग्‍ला इंटरटेनमेंट चैनल को अब कोलकाता से हटाने के अपने फैसले के तहत उसे नोएडा ले आने का आदेश जारी कर दिया है। अब इस चैनल का संचालन और प्रसारण कोलकाता के बजाय नोएडा से ही होगा। अपने इस फैसले के बाद इस चैनल के सभी कर्मचारियों को एक मास की नोटिस दे दी गयी है। नोटिस के मुताबिक इन कर्मचारियों को अब चैनल के साथ ही नोएडा पहुंचना होगा। ऐसे प्रभावित कर्मचारियों की तादात 80 के आसपास है। कहने की जरूरत नहीं कि बेहद कम वेतन पर यहां काम कर रहे इन कर्मचारियों की माली हालत ऐसी नहीं है कि वे खुद को नोएडा शिफ्ट कर सकें। जाहिर है कि ऐसी हालत में उन्‍हें खुद ही नौकरी छोड़ने पर मजबूर होना पड़ेगा।

बांग्‍ला भाषा में प्रसारित हो रहे इस इंटरटेनमेंट चैनल की हालत हालांकि पिछले काफी समय से खराब ही थी। यह चैनल यहां सबसे नीचे पायदान से कभी भी ऊपर उठ ही नहीं पाया था। जानकारों का कहना है कि चैनल की इस हालत के लिए महुआ में मोटी तनख्‍वाह खींचने वालों की क्रियाविधि ही पूरी तरह से जिममेदार रही है। बड़े पदों पर लाखों रूपयों के वेतन पर लाये गये इन अफसरों ने इस चैनल को तबाह कर दिया।

वैसे भी इसकी शुरूआत से लेकर अब तक पचास से ज्‍यादा लोग इस चैनल को छोडकर जा चुके हैं। अपनी साख कभी भी न बना पाने वाले इस चैनल को लेकर प्रबंधन के रवैये के चलते ही ऐसा हुआ बताया जा रहा है। शुरू से ही बनिया-मानसिकता वाले प्रबंधन से त्रस्‍त इस चैनल में कुछ अनुभवी लोगों को मोटी तनख्‍वाह के लालच में दूसरे चैनलों से यहां खींच लाया गया था, लेकिन इस इस नये फैसले से उनके सपनों को भी रौंद दिया गया है।


AddThis