डीडी इंटरनेशनल की कायापलट के लिए 100 करोड़ खर्च करेगी सरकार

E-mail Print PDF

प्रवासी भारतीयों और विदेशियों के मद्देजनर शुरू किए गए डीडी इंटरनेशनल चैनल को अच्छा रिस्पॉन्स न मिलता देख सरकार ने अब इसके कायापलट का फैसला किया है। अब तक इसकी अपलिंकिंग पर काफी खर्च आ रहा है। इसकी तुलना में रिटर्न नहीं मिलता। सरकार ने जब इसकी वजह जानने की कोशिश की, तो पता चला कि असली कारण लास्ट माइल कनेक्टिविटी (दर्शकों तक पहुंच) है।

80-85 देशों तक पहुंच के बावजूद असली वजह डाउनलिंकिंग ठीक न होना है। इससे इसे दर्शक नहीं मिल पाते। सरकार की तरफ से इसके डाउनलिंकिंग को फॉलो करने का कोई सिस्टम ही नहीं था। अब दर्शकों तक पहुंच बढ़ाने के लिए सूचना व प्रसारण मंत्रालय विदेश मंत्रालय की मदद ले रहा है। वह विभिन्न देशों के उन केबल ऑपरेटरों की लिस्ट बना रहा है, जो इस चैनल को डाउनलिंक कर अपने यहां दिखा सकें। मंत्रालय के एक वरिष्ठ सूत्र के अनुसार, जल्दी ही केबल ऑपरेटरों से अग्रीमेंट करना शुरू होगा।

12वीं पंचवर्षीय योजना में सूचना व प्रसारण मंत्रालय का प्लान डीडी इंटरनेशनल को विदेशी दर्शकों के लिए बतौर बेहतरीन चैनल के रूप में पेश करने का है। सरकार इस पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी। इसका कंटेट सुधारा जा रहा है। देश के विभिन्न आयामों को पेश किया जाएगा। टूरिज्म, कल्चर, फूड, एंटरटेनमेंट, स्प्रिचुएलिटी, इंफोटेनमेंट व फिल्म जैसे पहलू शामिल होंगे। साभार : एनबीटी


AddThis
Comments (2)Add Comment
...
written by Mulberry Bags Outlet, October 10, 2011
People deserve very good life time and mortgage loans or sba loan would make it much better. Just because people's freedom is grounded on money state. ,http://mulberryukfactory.com
...
written by pradeep, October 04, 2011
KUCHH NAHI HO SAKTA...."

Write comment

busy