'365दिन' पर ताला, अमल लाएंगे नया चैनल

E-mail Print PDF

Amal Jainरांची से शुरू हुआ इस इलाके व प्रदेश का पहला सैटेलाइट रीजनल न्यूज चैनल ''365 दिन'' का शटर डाउन हो चुका है. इस चैनल ने कई उतार चढ़ाव देखे, लेकिन अंततः चैनल चल नहीं पाया. जानकारी के मुताबिक इसे कुछ दिनों / महीनों पहले बंद हो जाना पड़ा. इस चैनल के सीईओ के रूप में अमल जैन काम देखते रहे. उन पर कई तरह के आरोप लगे. थाना पुलिस कोर्ट कचहरी का चक्कर भी उन्होंने काटा. हर किसी छोटे-बड़े से वे पंगा लेते रहे. बताया जाता है कि शिकायतों और बवालों से परेशान कोलकाता के पोद्दार ग्रुप ने अंततः चैनल न चला पाने में असमर्थता जताई. इस तरह चैनल को बंद हो जाना पड़ा.

चैनल में काम करने वाले ढेरों पत्रकार व गैर-पत्रकार बेरोजगार हो गए. चैनल बंद होने को लेकर भड़ास4मीडिया की तरफ से जब अमल जैन को फोन किया गया तो बेहद उत्तेजित, गुस्साए व आक्रामक अमल जैन ने लगातार आधे घंटे तक गाली-गौलज, अनाप-शनाप बातें कीं. उन्होंने भड़ास4मीडिया पर खुद को बदनाम करने का आरोप लगाया. साथ ही देख लेने की धमकी भी दे डाली. उन्होंने रंगदारी के आरोपों व जेल जाने के मुद्दे पर खुद को पाक-साफ बताते हुए कहा कि महात्मा गांधी को भी जेल जाना पड़ा था इसलिए किसी के जेल जाने से यह नहीं कहा जा सकता कि वह गलत है. अमल जैन का कहना था कि पत्रकारिता के लिए चैनल चलाओ, अखबार खोलो, वेबसाइट के जरिए पत्रकारिता नहीं होती बल्कि ब्लैकमेलिंग होती है.

फोन पर बातचीत के दौरान बेहद गरम अमल जैन ने भड़ास4मीडिया को लीगल नोटिस भिजवाने की बात कही. बाद में उनकी पत्नी ने भी फोन कर भड़ास4मीडिया तक नोटिस पहुंचाने के लिए मेल आईडी की मांग की जिसे उन्हें मुहैया करा दिया गया.  आज सुबह अमल जैन की तरफ से एक मेल भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह को मिला. इस मेल के जरिए अमल जैन ने यशवंत को पब्लिक प्लेस पर कठघरे में खड़ा कर पत्रकारिता के एथिक्स सिखाने की बात कही है. साथ ही यह भी सूचित किया है कि वे अब भी '365दिन' न्यूज चैनल के सीईओ के पद पर विराजमान हैं और जल्द ही एक बड़े चैनल को लांच करने वाले हैं. अमल जैन द्वारा यशवंत को प्रेषित मेल इस प्रकार है-

Dear Yashwant Ji,

Good MOrning,

I am continusly waiting for your mail, but in vain till now.

I have never read about your opinion for me, but it is embarrasing for me that without taking facts you always put baseless news against me and my group. I am 100 percent right that matters you always put are wrong, fabricated and baseless. I am the first man who started sattelite news channel from a backward and unstabnelled state like Jharkhand and targetted all black ships of state.

I even don't know, who are you and which type of journalism , you are doing, but I am an honest JOurnalist And it is not fair at any cost to defame me from any point.

I am very very eager for a meeting with you on an public place where I could put you in a dock. YOu should describe the ethics of Journalism .

I hope you will take it professionaly not as yellow journalism, because your style is against the honest journalism of our Country and our main motto is to aware people against corruption.

Hoping with a new effort from your side.

You are most welcome in my office at Ranchi. For your Kind information, I am still holding the post of CEO of 365 DIN and I will come again with a big channel very soon.

Regards and awaiting of your reply.

Yours

Amal


AddThis