आजतक के बोर्ड से सरकारी जमीन पर कब्‍जा!

E-mail Print PDF

कब्‍जाअक्सर लोग जमीनों पर कब्ज़ा करने के लिए तरह-तरह के फंडे इस्तेमाल करते हैं, लेकिन मेरठ के रहने वाले पत्रकार ने इसका एक अलग ही तरीका खोज निकला है. ये पत्रकार हमेशा किसी न किसी विवाद को लेकर सुर्खियों में रहे हैं, फिर वो चाहे मेरठ से रहे हों, दिल्ली से या फिर देहरादून से.

कब्‍जा मेरठ की एक सरकारी जमीन को ये चैनल के बोर्ड से कब्ज़ा किये हुए हैं. पहले ये बोर्ड न्यूज़ 24 का हुआ करता था, लेकिन उस चैनल से निकाले जाने के बाद इन्होंने ये बोर्ड आजतक के नाम से लगा लिया है. प्रशासन ने कई बार इस कब्जे को हटवाना भी चाहा लेकिन इन साहब का ये बोर्ड यहां पर कब्ज़ा किये हुए है. वैसे ये जमीन क्षेत्रवासियों के लिए पार्क के रूप में छोड़ी गयी है, लेकिन ये पत्रकार कब्‍जामहाशय इसे कब्जाकर इस पर एक मार्केट बनाना चाहते हैं, परन्‍तु क्षेत्रवासियों के विरोध के चलते अब तक अपने मंसूबो में कामयाब नहीं हो पाए हैं.

यशवंत जी क्या इस तरह की इजाजत चैनल दे देता है. वैसे मेरठ के लोगों ने काफी समय से इनकी कोई खबर आजतक पर नहीं देखी है, लेकिन ये अपने को आप को आजतक का विशेष संवाददाता बताते हैं.

मेरठ से भेजे गए एक मेल पर आधारित.


AddThis