एनबीए ने कहा, हिंसा के विजुअल ना दिखाएं चैनल

E-mail Print PDF

: तेलंगाना मुद्दे पर संयम बरतने का निर्देश : न्यूज ब्रॉडकॉस्टर एसोसिएशन (एनबीए) ने न्‍यूज चैनलों को तेलंगाना समर्थकों या विरोधियों की हिंसा या किसी भी तरह के उन्माद फैलाने वाले वीडियो फुटेज प्रसारित ना करने का आदेश दिया है. एनबीए ने चैनलों को दिशा-निर्देश जारी करते हुए स्‍पष्‍ट किया है कि तेलंगाना समर्थकों या विरोधियों की हिंसा, आंदोलन, उन्‍माद आदि से जुड़े वीडियो को न दिखाया जाए. इस मुद्दे पर विरोध और जश्‍न के दृश्‍यों से भी दूरी बनाकर रखी जाए ताकि माहौल खराब न होने पाए.

तेलंगाना मामले में अत्‍यधिक संवेदनशीलता बरतने का निर्देश दिया गया है और इसका गंभीरता से पालन करने को कहा गया है. एनबीए ने कहा है कि कोशिश की जानी चाहिए कि हिंसा जैसे फुटेज का प्रसारण बिल्‍कुल ना हो, अगर पुराने वीडियो दिखाए भी जाते हैं तो उनपर फाइल लिखकर प्रसारित किया जाए. संभव हो तो तिथि का भी जिक्र किया जाए. इस निर्देशों के बाद यह देखना दिलचस्‍प होगा कि टीआरपी की भागमभाग में चैनल खुद पर कितना नियंत्रण रखते हैं और एनबीए के दिशा निर्देशों का कितना पालन करते हैं. पीछे के खट्टे-मी‍ठे अनुभवों देखते हुए कुछ भी कहना फिलहाल मुश्किल है.


AddThis
Comments (2)Add Comment
...
written by Rakesh Shukla, January 09, 2011
Has this NBA converted itself to the PR deptt of the GOI? Why should the independant tv news channels kow-tow the govt line? If so, next time the govt would ask the channels not to air public protests and demonstrations against price hike and corruption...Will the NBA also endorse its line and make channels follow it? Beware TV editors, It is tentamount to impose back channel media censorship by the powers-that-be.
...
written by Devashish, January 08, 2011
ये एन बी ए निर्देश देने के आलावा क्या करता है. क्या चैनल वाले उसकी सुनते भी हैं.

Write comment

busy