चैनल वही जो सरकारी गुण गाए

E-mail Print PDF

दुल्हन वही जो पिया मन भाए की तर्ज पर पंजाब में खबरें वहीं जो सरकार मन भाए चल रहा है। राज्य में केबल के माध्यम से कौन सा खबरिया चैनल आए और कौन सा गायब रहे, इसके बाकायदा निर्देश जारी किए जाते हैं। पिछले कुछ सालों से ऐसे आरोप लगाए जाते रहे हैं। आरोप यह भी कि यह नियंत्रण कोई और नहीं लगाता बल्कि सत्तापक्ष में बैठे लोग ही इसे अंजाम दे रहे हैं। पंजाब में निजी परिवहन की तरह केबल नेटवर्क पर भी नियंत्रण हो गया है।

ऐसा नहीं है कि अकाली-भाजपा सरकार के दौर में ही ऐसा हो रहा है और खास वर्ग ऐसा करा रहा है। कांग्रेस के राज में भी वही चैनल ज्यादा नजर आते थे जो सरकार का गुणगान करते थे। सत्ता कंवर संधु बदली तो निष्ठा बदल गई और चैनल भी। यानी चैनल वही सरकार कहे अनुसार चले और वही खबरें दिखाएं जो उसके मन भाए। पंजाब में निजी परिवहन और केबल नेटवर्क को लेकर सरकार की आलोचनाएं भी होती रही हैं लेकिन बावजूद इसके कुछ नहीं हुआ है।

पहली बार देश के नामी पत्रकार कंवर संधु ने केबल के अपरोक्ष नियंत्रण को हटाने के लिए आवाज बुलंद की है। इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस और हिंदुस्तान टाइम्स के माध्यम से अपनी पहचान बना चुके कंवर संधु सेटेलाइट चेनल डे-नाइट के प्रबंध संपादक हैं। सूचना और प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी को उन्होंने इस बाबत चिट्ठी लिखी थी जिसके जवाब में सोनी ने पंजाब के मुख्य सचिव को इस बाबत कार्रवाई के लिए कहा था।

संधु का आरोप है कि मुख्य सचिव ने इस दिशा में कुछ नहीं किया है। संधु की यह पीड़ा अपने चैनल के संदर्भ में हो सकती है कि उसे ठीक से चलने नहीं दिया जाता, लेकिन प्रदेश में और भी लोगों को यही दिक्कत रही है। संधु ने बाकायदा पत्रकार सम्मेलन में केबल नेटवर्क पर एक वर्ग के नियंत्रण की बात कही। यह कौन है सभी जानते हैं। अब समय आ  गया है कि मीडिया को अपने हिसाब से चलाने वालों को बेनकाब किया जाना चाहिए।


AddThis