IBN7 का असर, दिव्या के कातिल तक पहुंची पुलिस

E-mail Print PDF

कानपुर। कानपुर के दिव्या केस में IBN7 की मुहिम रंग लाई है। मामले की जांच के बाद मालूम हुआ है कि 10 साल की मासूम दिव्या के साथ वहशीपन करके उसे मौत के मुंह में पहुंचाने वाला स्कूल प्रबंधक का छोटा बेटा है। IBN7 को सीबीसीआईडी सूत्रों से खबर मिली है कि दिव्या का मुजरिम स्कूल प्रबंधक का छोटा बेटा पीयूष ही है। मौका ए वारदात से मिले सबूत और दिव्या के स्वाब सैंपल की जांच में ये बात पक्की हो गई है कि दिव्या का कातिल स्कूल प्रबंधक का छोटा बेटा ही है।

फॉरेंसिक जांच में इस बात की पुष्टी हो गई है कि स्कूल में दिव्या के खून के साथ जो दूसरा खून था वो किसी और का नहीं स्कूल प्रबंधक के छोटे बेटे पीयूष का ही था। आपको बता दें कि कानपुर के भारती ज्ञान स्थली में पढ़ने वाली दिव्या की मौत 27 सितंबर 2010 को हुई थी। 27 सितंबर की दोपहर स्कूल की दाई ने दिव्या को घर छोड़ा, ये बताते हुए कि उसकी तबीयत खराब है। दरअसल, उस वक्त दिव्या के निजी अंगों से खून निकल रहा था। फौरन उसे अस्पताल में दाखिल कराया गया, लेकिन उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस पर मामले को दबाने का आरोप लगा। जब शहर के लोग 10 साल की बच्ची की रहस्यमय मौत पर इंसाफ मांगने स्कूल के सामने जमा हुए तो पुलिस भेड़ियों की तरह उनपर टूट पड़ी। साभार : आईबीएनलाइव डॉट इन


AddThis
Comments (2)Add Comment
...
written by vikas verma, January 14, 2011
har channel aur news paper ka yahi kahna hai ki usne divya ko insaaf dilaya hai.... what is this??????????????????????
...
written by Rukhsana Maqsood, January 14, 2011
I was wondering if Ibn will fallow the case till the end and make sure culprits do not get away by bribing

Write comment

busy