जागरण के बाद आर्यन टीवी पर भी पंडित जसराज मरे!

E-mail Print PDF

भारत रत्‍न पंडित भीमसेन जोशी के मरने से लोग दुखी हैं. परन्‍तु अखबार और चैनल वाले उनका दुख और बढ़ाने पर लगे हुए हैं. कल दो-दो बार पंडित भीमसेन जोशी की जगह पंडिस जसराज को मरा बताया गया. दरअसल हुआ यह कि पहले जागरण ने यह गलती की और अपने वेबसाइट में पंडित भीमसेन की जगह जसराज की फोटो छाप दी, फिर ऐसी ही गलती बिहार झारखंड के रीजनल चैनल आर्यन टीवी ने दोहराई. आर्यन ने पंडित भीमसेन जोशी की जगह पंडित जसराज का विजुअल चलाया. यह विजुअल लगभग पंद्रह मिनट तक चलता रहा. इसके बाद यह खबर गिरा दी गई.

एक दर्शक बिस्‍मय अलंकार ने आर्यन टीवी पर हुई इस बड़ी गलती का फोटो विजुअल भड़ास4मीडिया के पास भेज दिया है. इस गलती को आप भी नीचे तस्‍वीरों में देख सकते हैं.

जसराज

जसराज

जसराज

जसराज


AddThis
Comments (11)Add Comment
...
written by murar kandari, January 31, 2011
tv channalo ma jugad patkarita hai . gk ke to jaankari hi nahi ha jenah hai unahi job par raktay nahi ...... q......ke... ya ......lodeta nahi hai.
...
written by arvind mishra, January 28, 2011
sanjay mishra ke raj me isase jyada ki umid app nai kar sakate hai, kyo dinesh jee.
...
written by धीरज कुमार साहू, January 26, 2011
वैसे टीवी मीडिया से इतनी बड़ी गलती होना सही तो नहीं है पर बड़ी बात ये है कि उन्होने माफी मांगी है या नहीं!! अगर नहीं मांगी तो फिर बड़े शर्म कि बात है।
...
written by depak pandey, January 26, 2011
mishraji kuch to sharm karo, tumko to desh live ne pachad diya
...
written by rajiv, January 26, 2011
जंग जैसी प्रतिस्पर्धा के युग में आर्यन और जागरण की गलती कोई बड़ी बात नहीं बल्कि मामूली है। और इस मामूली गलती का मूल है मालिकों द्वारा मुद्रा ढीलने की आनाकानी। वे कास्ट कटिंग के नाम पर कम लोगों को रखना चाहते हैं.. एक आदमी से दस आदमी का काम लेना चाहते है... जिससे मानव रुपी यंत्र से ऎसी गलतियां होना आपेक्शित है... उम्मीद है जिन मानव यंत्रों से ये गड़बड़ियां हुईं हैं.. उनके मालिक वनिस्पत की उन्हें रिप्लेस करने के उन्हें आराम का वक्त देंगे.. साथ ही इस घटना से स‌बक लेकर... हर यंत्र का उतना ही इस्तेमाल करें...जितना वो आराम से कर स‌के।
...
written by abhay ranjan, January 26, 2011
अरे यार क्यों जग हंसाई करवा रहे हो...बिहार के लोगों ज्ञानी पुरुष माना जाते हैं और तुम लोगों ने अज्ञानता की गंगा बहा दी... हद है मेरे यार
...
written by मदन, January 25, 2011
संजय मिश्र जैसे लोगों के रहते यही उम्मीद की जा सकती है
...
written by annoymas, January 25, 2011
दारुबाज लोग चैनल में काम करेंगे तो इसी तरह बंटाधार करेंगे
...
written by rajiv, January 25, 2011
aj ke media walo ko vaise hi gyan ke kami hai, chahe sangeet ho ya koi dusra subject.
...
written by madan kumar tiwary, January 25, 2011
सही कहा दिनेश
...
written by दिनेश चौधरी, January 25, 2011
मीडिया वालों का संगीत ज्ञान वैसे ही कम है। मुन्नी व शीला से फुर्सत मिले तो ये लोग कुछ संगीत सुनें! फिर चैनल वालों के पास समय कम है व धैर्य तो बिल्कुल नहीं हैं। गूगल में पंडित टाइप किया होगा। जोशी की जगह जसराज जी निकल गये तो उनकी क्या गलती!

Write comment

busy