एक साल में दर्शकों ने माना मौर्य का शौर्य : मनीष झा

E-mail Print PDF

मौर्य एक चैनल के रूप में मौर्य टीवी दो फरवरी को एक साल का हो गया... लांचिंग समारोह में कैटरीना कैफ का वो उदगार आज भी लोगों को याद है-“पटना, का हाल बा ”... राजनीति फेम मनोज वाजपेयी, अर्जुन रामपाल जैसे कलाकारों के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथों लांच हुए मौर्य टीवी पर पूरे देश की नज़र थी। चैनल के जनक फ़िल्म जगत के दिग्गज प्रकाश झा की इस कोशिश को लोग हसरत भरी निगाहों से देख रहे थे। वजह साफ थी। बिहार की धरती से ये पहला चैनल था, जो यहीं की भाषा में यहीं की बात कहने को दर्शकों से मुखातिब हो रहा था।

टीवी से जुड़े पत्रकारों के लिए भी ये कौतूहल का विषय बना कि पटना जैसे शहर से कोई मुकम्मल चैनल लांच हो, तो उसका भविष्य क्या होगा। लेकिन, वक्त ने तमाम आशंकाओं को निर्मूल साबित कर दिया। पांच महीने में ही मौर्य टीवी ने सफलता का वो इतिहास रच दिखाया, जिसके लिए कोई भी न्यूज़ चैनल लालायित रहता है। तमाम राष्ट्रीय और क्षेत्रीय चैनलों को पीछे छोड़ते हुए मौर्य 14 जुलाई को नम्बर वन हो गया। हतप्रभ मीडिया जगत तब और भौंचक रह गया जब मौर्य के नम्बर वन बने रहने का सिलसिला थमा नहीं, बढ़ता चला गया। पन्द्रह हफ्ते में ग्यारह हफ्ते मौर्य नम्बर वन रहा।

ज़ाहिर है इस रिकार्ड की कोई सानी नहीं। मौर्य टीवी के चैनल हेड मनीष झा ख़ास तौर पर कहते हैं कि नम्बर वन होने के लिए चमत्कार, भूत-प्रेत जैसी ख़बरों का दामन मौर्य ने कभी नहीं थामा। श्री झा को इस बात का फख्र है कि दर्शकों ने बहुत कम समय में मौर्य के शौर्य को न सिर्फ अंगीकार किया, बल्कि उसे सर आंखों पर बिठाया। टीआरपी की रेटिंग में मौर्य टीवी के कई कार्यक्रम सुपुर-डुपर हिट रहे। राजनीति खेल सत्ता का, सत्ता संग्राम, बाल की खाल, सास की छौंक बहू का तड़का, जुर्म का जाल, लॉ एंड ऑर्डर, मौर्य स्पेशल, पटना फाइटर्स, टोटल फ़िल्मी, पटना लाइव, ज्योतिष लाइव, रनभूमि, दिल की बात प्रकाश के साथ, ख़ास मुलाक़ात, चलते-चलते, चुनावी अखाड़ा, बात बोलेगी, बिहार रिपोर्टर, झारखण्ड रिपोर्टर, ख़बरें खटाखट, ....यानी एक के बाद एक प्रोग्राम...जिसने दर्शकों को मौर्य का दीवाना बना दिया।

टीआरपी की रेटिंग में ग्राफ ऊपर-नीचे होते हैं... मौर्य टीवी भी इससे अछूता नहीं रहा। इसके बावजूद मौर्य के समर्पित पत्रकारों का हौंसला बरकरार है। नये-नये शो, कार्यक्रम लगातार शुरू हो रहे हैं। आजतक फेम कुमार राजेश के नेतृत्व में सम्पादकीय टीम पूरे हौंसले के साथ मौर्य टीवी का कन्टेन्ट मज़बूत करने में लगी है, जिनमें मौर्य के राजनीतिक सम्पादक नवेन्दू सिन्हा और वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ श्रीवास्तव का सक्रिय सहयोग रहता है। आउटपुट हेड सुनील पाण्डे, इनपुट हेड प्रेम कुमार भी चैनल को एक मुकाम दिलाने वाली टीम में योगदान करने वालों में अहम हैं तो एंकरिंग टीम का नेतृत्व खुद कुमार राजेश अपने सहयोगी वेसाल आज़म के साथ करते रहे हैं।

झारखण्ड में मौर्य का शौर्य बिखेरने में जुटी टीम को नेतृत्व देने की ज़िम्मेदारी सम्भालने सहारा समय से न्यूज़ 11 होते हुए पहुंचे हैं मनोज श्रीवास्तव। उन्होंने मौर्य को विज्ञापन की दुनिया में भी जगह दिलाने में योगदान दिया है। मौर्य प्रबंधन ने मौर्य टीवी की पहली वर्षगांठ पर अपने कर्त्तव्ययोगियों के लिए होटल पाटलिपुत्रा अशोका में भव्य आयोजन रखा है। इसमें इन्द्रजीत गांगुली, बरनाली गांगुली, कुमार अरविन्द, रंजना झा जैसे कलाकार अपनी कला का जलवा बिखेरेंगे। डीजे की भी व्यवस्था है। प्रेस विज्ञप्ति


AddThis