लेमन न्यूज़ में सब कुछ ठीक चल रहा है

E-mail Print PDF

: आरकेबी को बदनाम करने की कोशिश : लेमन न्यूज़ को लेकर इन दिनों तरह-तरह की खबरें खास तौर पर भड़ास मीडिया पर प्रकाशित की जा रही है. साथ ही आरकेबी यानी राजीव बजाज साहब को लेकर भी कुछ मनगढ़ंत बातों को यहाँ पर लगातार प्रकाशित किया जा रहा है, लेकिन दुःख इस बात का होता है कि जिन लोगों पर आरकेबी ने अपना पूरा विश्वास दिखाया था या वे लोग भी कभी उनके विश्वास पर खरे उतरे थे, ऐसे लोग जो इस समय कुछ ऐसी बातें प्रकाशित कर रहे हैं, जिनका कोई तात्पर्य नहीं है.

लेमन न्यूज़ से जुड़े रहने के चलते यहाँ पर एक बात साफ़ करनी होगी कि यहाँ पर जो लोग शुरुआती दौर से काम कर रहे हैं या किसी ने बाद में ज्‍वाइन किया है, उन अधिकांश सभी लोगों को यहाँ पर काम करने का मौका दिया गया था, खास तौर पर एडिटोरियल वालों को. इनमें से कई लोग आज भी यहाँ पर अपनी पुरानी लगन के साथ काम कर रहे हैं या कुछ लोगों को दूसरे चैनल में मौका मिल गया तो वे चले गए हैं. इन सभी लोगों ने आरकेबी साहब के साथ काम करने की चाहत दिखाई थी.

आरकेबी साहब के साथ मैं खुद सन 1999 से काम कर रहा हूं और आज भी उन्हीं के साथ हूं. हा एक बात सच जरुर है कि यहाँ पर फायनेंशियल दिक्‍कत है, जो शायद और भी कई जगहों पर इस समय चल रही है, लेकिन यहाँ पर काम करने वालो का पैसा डूबाया नहीं जा रहा है क्योंकि भले ही लोगों को उनका मानधन देरी से मिलता है लेकिन मिलता जरुर है. और ये बात यहाँ पर काम करने वाले हर शख्स को पता भी है क्योंकि उसे यहाँ पर ज्‍वाइन करने पहले ही बताया जाता है. इन हालत में लोग अनुभव पाने के लिए आरकेबी साहब के साथ काम करने की चाहत दिखाते हैं और जुड़ भी जाते हैं. ऐसे लोगों को किसी तरह की कोई बंदिश नहीं होती है कि वे यहीं पर रहकर काम करते रहें, यदि उन्हें किसी बड़े चैनल में काम करने का मौका मिल जाता है तब वह व्यक्ति पूरी रजामंदी के साथ जा सकता है.

अब शायद कुछ लोग आरकेबी साहब के साथ किसी बात को लेकर नाराज हो गए हैं, जो कभी उनके साथ पूरी लगन के साथ जुड़े रहे, ये लोग आज कुछ मनगढ़ंत बातों को प्रकाशित करवा रहे हैं, जिनका उनके विवाद से कोई तात्पर्य नहीं बनता, क्योंकि इन लोगों को अपनी असल नाराजगी आरकेबी के साथ मिलकर या बात करके सुलझानी चाहिए. यहाँ पर किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाना मकसद नहीं है, असल नाराजगी पर चर्चा कर उसका निदान निकालना अहम है, क्योंकि आरकेबी को लेकर यदि कोई मनगढ़ंत बात यहाँ पर प्रकाशित की जाती है तो उसका दुष्परिणाम नयी पीढ़ी पर पड़ने के साथ किसी व्यक्ति विशेष की लाइफ के साथ खिलवाड़ भी हो सकता है. पत्रकारिता के क्षेत्र में रहते हुए हमें इस बात का हमेशा एहसास रहना भी चाहिए.

मुझे लगता है कि आज भी लेमन न्यूज़ में फायनेंशियल दिककत को छोड़ कर काम के सभी हालत ठीक हैं. सभी महिला एवं पुरुष कर्मी पूरी ईमानदारी के साथ आरकेबी साहब के साथ काम कर रहे हैं, यहां लेमन न्यूज़ के मालिक ज़हीर अहमद साहब का भी इसमें पूरा सहयोग मिल रहा है. भले ही कुछ लोग ज़हीर अहमद साहब और आरकेबी साहब के बीच विवाद कराने की कोशिश करते रहे हो. लेकिन दोनों ही चैनल को लगातार हो रही फायनेंशियल दिक्‍कत को दूर करने की कोशिश में हैं. उम्मीद करते हैं कि हालात जल्द सामान्य होंगे और जो लोग नाराज हुए हैं, उनकी नाराजगी दूर होगी.

अयूब शेकासन

लेमन न्‍यूज

This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it


AddThis