2जी उर्फ राजा-राडिया घोटाला : एक चैनल के पास 206 करोड़ पहुंचे, जांच जारी...

E-mail Print PDF

टाइम्स आफ इंडिया में आज एक रिपोर्ट प्रकाशित हुई है जिसमें प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों के जरिए काफी सनसनीखेज खुलासा किया गया है. इस रिपोर्ट के अनुसार 2जी स्पेक्ट्रम स्कैम के दौरान आए-गए पैसे की जांच-पड़ताल के दौरान पता चल रहा है कि करीब 206 करोड़ रुपये दक्षिण भारत के एक टीवी चैनल के पास पहुंचाया गया.

इस खबर में कहा गया है-- ''The money, ED sources said, was routed through a tax haven and parked in a fisheries firm in Maharashtra and a Mumbai-based event management company before being diverted to a TV channel in south India.'' इस खबर के बाद से कहा जा रहा है कि जांच पड़ताल आगे बढ़ने के बाद कई और बड़े खुलासे हो सकते हैं. वैसे भी राजा और राडिया द्वारा ढेर सारे पत्रकारों व मीडिया हाउसों को ओबलाइज किए जाने की बात काफी समय से चर्चा में है. राजा व राडिया के यहां से डायरियों के बरामद होने के बाद इन पत्रकारों व मीडिया घरानों के नाम सत्ता में बैठे बड़े लोगों को पता चल चुके हैं पर सब अपनी-अपनी मजबूरी और कमजोरी के कारण एक दूसरे को बचाने में लगे हैं. देखना है, ये लोग कितने दिन तक ये सारे नाम व लिस्ट छुपाकर रख पाते हैं. टीओआई में नई दिल्ली डेटलाइन से आज प्रकाशित खबर इस तरह है... 

''The Enforcement Directorate's (ED) probe into the money trail of the spectrum licences allocation scam has traced an investment of Rs 206 crore to a TV channel in southern India that is likely to raise more political heat at the Centre. The money, ED sources said, was routed through a tax haven and parked in a fisheries firm in Maharashtra and a Mumbai-based event management company before being diverted to a TV channel in south India. ED suspects the money to be a part of bribes that were paid for 2G spectrum licences. Though details have not yet been made public, a part of the trail finds mention in the status report that ED has submitted to the apex court relating to investigation in the 2G spectrum scam. ED had filed a 55-page status report in December last year to the Supreme Court in which it had linked some of this foreign investment to a key suspect in the scam. The ED's investigation so far has covered 10 foreign countries and tax havens, including Cyprus, Libya and Mauritius, where the agency believes large sums of money have been parked. ED sources said the agency has got leads to investments made by key suspects in the scam in both Cyprus and Mauritius. The ED has sought six months time from the court to complete its probe under the Prevention of Money Laundering Act (PMLA) and Foreign Exchange Management Act (FEMA). This much time, it said, was required because many of the companies under probe were registered in tax havens such as Isle of Man, British Virgin Island, Cyprus and Mauritius and difficult countries like Libya.''

लगता है, यह प्रकरण नए सिरे से फिर उबाल मारेगा व मीडिया इंडस्ट्री के कई और सफेदपोशों के दागदार दामन का सार्वजनिक प्रदर्शन होगा. तब तक इस कार्टून का आनंद लीजिए जिसे मेल टुडे में आज प्रकाशित किया गया है और कार्टूनिस्ट हैं आर. प्रसाद....


AddThis