पब्लिक को बेवकूफ बनाने में लगे रहे दोनों रीजनल चैनल

E-mail Print PDF

गत दिनों छत्तीसगढ मे नक्सलियों द्वारा अगवा जवानों को छोड़े जाने पर मध्‍य प्रदेश-छत्तीसगढ के दो रीजनल चैनल आपस में भिड़ गये. अपने को सर्वश्रेष्ठ बताने के लिये लग गए ढिंढोरा पीट कर दर्शकों को बेबकूफ़ बनाने में. एक ओर पहला चैनल जिसे अपनी मुहिम बता कर दर्शकों का भरोसा तोड़ रहा था तो दूसरा चैनल भी कहां पीछे रहता भला, तो उसने भी ठान लिया कि हमें भी यही करना होगा नहीं तो टीआरपी दूसरा ले जायेगा.

बस फ़िर क्या था लग गये अपने मुंह मिया मिठठू बनने में. जवानों को रिहा कराने में लगे खुद अपना पीठ ठोंकने. अपने आप को चौथा स्तंभ बता लोगों के हक की लड़ाई लड़ने का दावा करने वाले इन चैनलों का क्या यही सच है. अब लोग भला कैसे न्याय की उम्मीद करें इनसे..। खास बात तो ये रही कि दोनों चैनल एक ही समय पर ये करतूत कर जनता का भरोसा तोड़ रहे थे. यही वजह है कि आज टीआरपी की दौड़ में चैनल भले ही ऊपर हो जायें पर दर्शकों की नज़रों में वे लगातार पिछड़ रहे हैं. मजबूरी है जनता की कि उसे अंधों में काने राजा से ही काम चलाना पड़ रहा है. आखिर वह किसे सच माने और किसे झूठ.

साधनासहारा


AddThis
Comments (7)Add Comment
...
written by abhishek shrivastava narsinghpur, February 25, 2011
jo v ho jaisa v ho mein to badhai deta hu jawan riha ho gay..aur agar prayas 1 ne kiya 2ne kiya ya sb ne.... mayne to ye rakhta hai ki prayas kiya gaya..balki mein to ye kahta hu sabko prayas kerna hoga tabhi kuchh sthaai parinaam aayega..
...
written by shubham verma, February 17, 2011
Sir Ji Lagta Hai Apne News channel thik se nahi dekha,

2 Nahi 3 Channel is doud mein zee36gharh bhi tha...........
...
written by dipesh, February 16, 2011
arey bhai ye sahara samay aur sadhna ka bas chale to trp ke liye kuch bhi bech de to phir ye to bas aam janta ka vishwas hai....
...
written by kumar hemant, February 15, 2011
ये दुनिया का दस्तूर है की सच्चाई बोलने वाले को दबाया जाता है..... कोई बात नहीं आशीष जी आपको इस सच्चाई को जनता के सामने लाने के लिए बहुत बहुत बधाई........! ये सब जानते हैं की सत्य हमेशा प्रताड़ित होता है पर परास्त नहीं होता.......पर इन चैनल वालों को सच दिखने में न जाने कौन सी तकलीफ होती है ! आशीष जी आप तो क्या सभी जानते हैं कि इन चैनलों और इनके रिपोर्टरों का क्या बजूद है ! क्योंकि इन सबका एक ही उद्देश्य है सिर्फ और सिर्फ माल यानी पैसा....... , इन्हें ख़बरों से कुछ सरोकार नहीं ! जहा तक आपके इन दो चैनलों में से एक तो ऐसा है जो रिपोर्टर ही पैसे लेकर बनाता है , जिसे रिपोर्टर की योग्यता से भी कोई सरोकार नहीं बस ज्यादा से ज्यादा पैसे दो और आई डी लेकर तुम भी कमाओ !
...
written by veer chauhan, February 15, 2011
जो व्यक्ति सहारा समय मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ की 70 फ़ीसदी खबरों को झूंठी खबरें बता रहा है वो बहुत बड़ा बेवकूफ़ है... अबे कम से कम सोच समझकर तो लिखा करों.... जो मूंह में आया बक देते हो... ये बड़ास है तुम्हारे घर का गुसलखाना नहीं इसलिए यहां गंद मत फैलाओ
...
written by deep, February 14, 2011
Sahara Sama
y MP/CG ki 70% Khabaron per visvas nahi kiya ja sakta... kabhi kuch hota hi nahi or jabardasti khabar break karke sansani faladi jaati hai. Raha Sadhna ka sawal TRP List me bottom me jaane ke baad nakal karke hath pair maar raha hai. lekin kuch channel hai jo TRP ke liye satya dikhane ki koshish kar rahe hain.
...
written by XYZ, February 14, 2011
ajib bat karte ho yaar...kahd to kuch karo mat...aur agar koi karta hai...aur safal hota hai...to bas uski aisi taisi karne mei lage raho...sadhna news ne muhim chalai...prayas kiya...tb ja k jawan riha ho sake...apne ghar walo se mil sake...tumne kya kiya????

Write comment

busy