''चैनल2 ने नहीं दिया मेरा चार महीने का वेतन''

E-mail Print PDF

चैनल''मैं चैनल2 नामक पंजाब के न्‍यूज चैनल में स्ट्रिंगर हूं. मेरा तथा पूरे उत्‍तर प्रदेश के सभी स्ट्रिंगरों का वेतन नहीं दिया गया है. हम सभी पिछले चार महीने से इससे जुड़े हुए हैं, लेकिन अभी तक इन चार महीनों का वेतन नहीं आया है. ज्‍यादातर स्ट्रिंगरों को न तो लेटर दिया गया है और ना ही आईडी दी गई है. सभी स्ट्रिंगर अपने क्षेत्रों में वरिष्‍ठ हैं. हम सभी ने रोज और लगातार खबरें भेजी हैं. सभी ने अच्‍छे कार्य किए हैं.

चैनल के उत्‍तर प्रदेश के ब्‍यूरोचीफ हैं नीरज गुप्‍ता. जो लखनऊ में बैठते हैं. उनका कहना था कि यह चैनल सबको बहुत अच्‍छा पारिश्रमिक देगा. लेकिन अब तक कुछ नहीं मिला. इससे पहले उन्‍होंने हम सबको झारखंड के एक न्‍यूज चैनल 365 दिन से भी जोड़ा था. वहां भी काफी समय तक काम कराया परन्‍तु हमलोगों का एक भी पैसा नहीं मिला. नीरज गुप्‍ता हमें हर बार वेतन के लिए टालते थे. और उनका मानना है कि उनका तो वेतन आ ही रहा है बाकी उन्‍हें किसी प्रकार की दिक्‍कत नहीं, उन्‍हें सिर्फ अपने वेतन से मतलब होता है, जो कि उन्‍हें समय पर मिलता है. लेकिन जो लोग उनके साथ जुड़े हैं, उन्‍हें इनकी परवाह नहीं होती.'' यह दर्द है चैनल2 से मेरठ के लिए काम करने वाले स्ट्रिंगल अंशुल ग्रोवर की. एक भी पैसा नहीं दिए जाने के चैनल के रवैये से आहत हैं.

इस संदर्भ में जब चैनल2 के यूपी के ब्‍यूरोचीफ नीरज गुप्‍ता से बात की गई तो उन्‍होंने कहा कि मैनेजमेंट में प्रॉब्लम के चलते चैनल बंद चल रहा है. जिसके चलते किसी का वेतन नहीं मिल पाया, मेरा भी वेतन मुझे नहीं मिला. चैनल 365 की भी हालत सभी को पता है. उन्‍होंने कहा कि स्ट्रिंगर कई खबरें बिना एसाइनमेंट के एप्रूवल के भेज देते हैं, जिसका भुगतान चैनल नहीं करते हैं और इसके लिए स्ट्रिंगर मेरे पर दबाव बनाते हैं. इसमें मैं कहां दोषी हूं.


AddThis