आर्यन में स्ट्राइक जैसी कोई बात नहीं : भुजंग

E-mail Print PDF

यशवंत जी आर्यन के फील्ड रिपोर्टरों के स्‍ट्राइक की खबर जैसी कोई बात नहीं है. विलम्ब जरूर हुआ था. वैसे तो देश के नामी गिरामी चैनलों में भी विलम्ब हो रहा है. सभी फील्ड रिपोर्टरों को प्रारंभिक भुगतान आपकी खबर छपने से एक दिन पूर्व ही किया जा चुका था. रही चैनल की स्थिति की बात, तो प्रबंधन इस कोशिश में दिन रात लगा है कि किसी अच्‍छे और स्वच्छ छवि के पत्रकार के हाथों में जिमेदारी दी जाये.

बाकी अफवाहें निराधार हैं, जो लोग संस्था से चले गए उनको लाने का कोई प्रश्न ही नहीं उठता. हमारी कोशिश है क्षेत्रीय चैनल से राष्ट्रीय चैनल के रूप में विस्तार करने की. जिसके लिए प्रबंधन लगातार प्रयत्नशील है.

द्विवेदी भुजंग भूषण

स्टेट हेड, झारखण्ड (आर्यन न्यूज़)

सदस्य, प्रबंधन कमिटी


AddThis
Comments (4)Add Comment
...
written by abinash, March 06, 2011
bhujang sahab,
aap kis patrakaar ko zimmedari dene ki baat kar rahe hai main toh khud aaya tha aapse milne..aapne toh mauke ki baat kya dhang se haal chal bhi nahi pucha tha.. zimmedr patrakaar ko dhundha jaat hai bhujang sahab.. kursi par baith kar channel dekhte hue commwnt pass karne se nahii.. zara maidaan main aaye patrakaaro se miliy.. tab pata chalega ki kaun kiyne paani main hai.. main abhi tv9 mumbai se jura hua hu...
...
written by S.Pandey, February 23, 2011
Samman paa lene me jitni badi khushi hoti hai uski kimat ghutan bhari zindagi se chukani padti hai,shayad aisa hi haal hai mere chairperson ki.

(Yeh mat shoch ke koi shakhs gunehgar hai kitna, Yeh soch ki wafadar hai kitna. Yeh mat soch ki use kuch logo se nafrat v hai balki yeh soch ki use tumse pyar hai kitna.)

Comments by a Lerner Reporter.
...
written by rakesh, February 19, 2011
reportar ke diketar ko sharm nahi aata ki aapne kursi ke liye reporter ko bechte hai
...
written by झूठ बोले कौवा काटे , February 18, 2011
आर्यन के झारखण्ड में किस स्ट्रिंगर को मिला पैसा बताएं?

Write comment

busy