मां-बाप ने अपने अरमानों का 'गला घोंटकर' देश को सायना नेहवाल दिया

E-mail Print PDF

लोगो: सीएनईबी पर यंग टाक में आज सात बजे अनुरंजन झा के साथ सायना की बातचीत देखिए : 'स्कूटर पर बैठे- बैठे ही सो जाती थी- कहीं गिर न जाए इस डर से इसकी मां को भी साथ ले जाने लगा।'  यही कहा उसके पिता ने। मां-बाप के संघर्ष और अपनी मेहनत की बदौलत आज युवा पीढ़ी की मिसाल बन चुकी उस शख्सियत का नाम है सायना नेहवाल।

सीएनईबी के ‘यंग टॉक’ में अनुरंजन झा के साथ इस बार देखिए भारत की इस बैडमिंटन सनसनी के संघर्ष और सफलता की कहानी। इसमें सायना ने जो खुलासे किए वह युवा पीढ़ी के साथ मां-बाप के लिए भी एक सबक है।

जिस देश में ‘इज्जत’ के नाम पर कई बार लड़कियों की कुर्बानी दे दी जाती है, वहीं कैसे एक मां-बाप ने अपने अरमानों का ‘गला घोंटकर’ देश को सायना नेहवाल दिया। खेल के मैदान पर बड़े से बड़े प्रतिद्वंदियों को रुला देने वाली सायना को भी रोना आता है, लेकिन कब? सायना कहती हैं कि तब मुझे नहीं मालूम था कि मेरे खेल के लिए पैसा कहां से आता है- काफी कर्ज लिए थे मेरे पापा ने- अब जब मैं सोचती हूं तो मुझे रोना आता है उनके संघर्षों पर।

‘यंग टॉक’ में इस बार देखिए कभी डॉक्टर बनने की चाहत रखने वाली सायना को आखिर खेल-खेल में किससे प्यार हो गया? किस बात पर वह शरमाते हुए कहती हैं – वो तो काफी दूर है। कॉमनवेल्थ गेम्‍स में देश के लिए जीतने पर अब तक की सबसे बड़ी खुशी मानने वाली सायना को आखिर किस बात का मलाल आज भी है? हमेशा मुस्कुराकर जवाब देने वाली सायना को गुस्सा भी आता है, वह कहती हैं- ‘जब भी हारती हूं तो बहुत गुस्सा आता है।'

यंगयंग

सीएनईबी का शो ‘यंग टॉक’  युवा चेहरों से बेबाक बातचीत के लिए पहचाना जाने लगा है। इसके पिछले एपिसोड में बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने खुलासा किया था कि ‘जिस पंत मार्ग पर कभी मैं बस पकड़ने के लिए खड़ा रहता था आज उसी पंत मार्ग की कोठी में मैं रहता हूं’। यंग टॉक का प्रसारण शनिवार शाम 7 बजे और रविवार रात 9 बजे होता है।

इस शनिवार यानी 26 फरवरी  को यंग टॉक में बेबाकी से अपनी राय जाहिर करती  नजर आएंगी सायना नेहवाल। आखिर किस बात पर सायना ने कहा कि ‘लड़कियों को कुछ कहने की जरुरत ही नहीं वो तो..।’ किसे सबसे अधिक मिस करती है सायना? शाहरुख और काजोल को पसंद करने वाली सायना ने आखिर किसे कहा ‘आई लव यू'। प्रेस विज्ञप्ति


AddThis