'न्यूज एक्सप्रेस' में लांचिंग से पहले ट्रेनिंग कार्यक्रम शुरू

E-mail Print PDF

पोलिटिकल चैनल के रूप में 'न्यूज एक्सप्रेस' की लांचिंग कराने की तैयारियों में लगे चैनल के हेड मुकेश कुमार ने स्टाफ को वैचारिक रूप से ट्रेंड करने के मकसद से प्रशिक्षण का कार्यक्रम शुरू कराया है. इसे 'मंथन' का नाम दिया गया है. मंथन में सबसे पहले जाने-माने आरटीआई एक्टिविस्ट अरविंद केजरीवाल को बुलाया गया. उन्होंने मीडिया, समाज और राजनीति को लेकर काफी कुछ बातें कहीं. वे इस बात से खफा थे कि अन्ना का अनशन खबर क्यों नहीं बनी.

अरविंद केजरीवाल मीडिया खास तौर पर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में खबरों के चयन को लेकर खासे रुष्ट हैं. 'न्यूज़ एक्सप्रेस' न्यज़ चैनल के मंथन कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए उन्होंने मीडिया को लोक सरोकारों से जुड़ी खबरों के प्रति असंवेदनशील बताया. केजरीवाल ने इस मौके पर अपने पक्ष को रखते हुए स्पष्ट किया कि समाजसेवी अन्ना हजारे के अनशन की खबर आज टीवी न्यूज़ चैनलों पर जगह नहीं पाती. क्यों? जन लोकपाल के मामले में भी कमोबेश स्थिति यही है. उन्होंने कहा कि आज मीडिया को जनता की भावनाओं और उससे जुड़े मसलों चैनल हेड मुकेश कुमार और आरटीआई एक्टिविस्ट अरविंद केजरीवालको प्रमुखता से उठाने की जरूरत है.

केजरीवाल ने स्पष्ट किया कि जिन हालात से देश गुजर रहा है वहां तटस्थ रहने की कोई गुंजाइश नहीं है. आपको लाइन के इस पार या उस पार खड़ा होना ही होगा. उन्होंने देश में काले धन के मसले को अपराध की श्रेणी में खड़ा किया और कहा कि यह सिर्फ कर चोरी का मामला नहीं है बल्कि यह देश की जनता के साथ किया गया अक्षम्य अपराध है. इसके दोषियों को समाज में खुलेआम घूमने की इजाजत नहीं दी जा सकती. आरटीआई को सामाजिक बदलाव की दृष्टि से एक कारगर हथियार बताते हुए केजरीवाल ने कहा कि अगर कोई मीडिया समूह कोई अभियान छेड़ना चाहे तो हमे उसका साथ देने में खुशी होगी.

टीवी के लिए खबरों के चयन का जिक्र करते हुए उन्होंने घटना का हवाला दिया. उन्होंने बताया कि आरटीआई के जरिये उन्होंने दिल्ली नगर निगम से गरीब बस्तियों में राशन वितरण के बारे में जानकारी मांगी थी. जानकारी मिली तो पता चला कि राशन बांटने में काफी गड़बड़ी की गई है. वह अपनी रिपोर्ट लेकर एक टीवी चैनल के पास गए. पर टीवी चैनल ने उसे दिखाने से इनकार कर दिया. बाद में किसी तरह चैनल वह खबर दिखाने को राजी हुए और उस पर आधे घंटे का प्रोग्राम बना. जब टीआरपी आई तो पता चला कि लोगों ने उस कार्यक्रम को खूब पसंद किया.

मंथन ट्रेनिंग कार्यक्रम में केजरीवाल को सुनते न्यूज एक्सप्रेस के पत्रकार.

केजरीवाल ने कहा कि आयकर की चोरी करना देश में दंडनीय अपराध है, लेकिन आजादी के बाद से आज तक किसी भी व्यक्ति को आय कर की चोरी के आरोप में सजा नहीं मिली है. टैक्स चोरों से महज आर्थिक दंड वसूलकर उन्हें दोबारा चोरी करने के लिए छोड़ दिया जाता है, जबकि दुनिया के कई देशों में इसके लिए नामी गिरामी लोगों को जेल की हवा भी खानी पड़ी है. इनमें प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ी स्टेफी ग्राफ के पिता भी शामिल हैं.


AddThis