जनसंपर्क विभाग ने पत्रकारों को आपस में भिड़ाया!

E-mail Print PDF

भोपाल में होली मिलन समारोह मनाने को लेकर राजधानी के पत्रकारों में मनमुटाव हो गया है और वे दो गुटों में बंट गए हैं। होली मिलन समारोह मनाने के लेकर बीते 19 मार्च को स्थानीय अप्‍सरा रेस्टोरेंट में पत्रकारों की एक बैठक आहूत की गयी थी, जिसमें 23 मार्च को अप्‍सरा रेस्टोरेंट में होली मिलन समारोह मनाने का निर्णय हुआ था,लेकिन अतिथियों को बुलाने के लेकर बैठक में विवाद हो गया था।

अधिकतर पत्रकार चाहते थे कि समारोह में पत्रकारों के अलावा किसी भी नेता या अधिकारी को न बुलाया जाए, लेकिन कुछ पत्रकार चाहते थे कि जनसम्पर्क मंत्री और जनसम्पर्क आयुक्त को कार्यक्रम में शामिल किया जाए। आखिर में यह तय हुआ कि अतिथि तक तो ठीक है लेकिन कार्यक्रम किसी संगठन के झंडे तले नहीं होगा, लेकिन जब दूसरे दिन कुछ पत्रकारों को ये भनक लगी कि आयोजन के लिए सरकार से मोटी राशि मिलने वाली है तो पत्रकार दो गुटों में बंट गए और आनन-फानन में दूसरे गुट ने 24 मार्च यानी आज त्रिवेणी में होली मिलन का अलग से कार्यक्रम बना लिया है। ख़बर है कि जनसम्पर्क विभाग ने दूसरे गुट को भी आर्थिक सहयोग करने का आश्‍वासन दिया है। मीडिया जगत में चर्चा है कि पत्रकारों को भिड़ाने में जनसम्पर्क विभाग की अहम भूमिका है।

भोपाल से अरशद अली ख़ान की रिपोर्ट.


AddThis