"पेड न्यूज़ और भारतीय पत्रकारिता” शीर्षक पर लघु शोधपत्र आमंत्रित

E-mail Print PDF

हम सभी जानते हैं कि पेड न्यूज़ अर्थात मालिकों के स्तर पर ही एकमुश्त पैसे लेकर किसी व्यक्ति के पक्ष में प्रायोजित खबरें प्रकाशित करने का रोग आज हमारी पत्रकारिता के लिए एक बहुत बड़े संकट और भारी समस्या के रूप में उभर कर सामने आया है. मैं कुछ दिनों पहले प्रसिद्ध सम्मानित पत्रकार पी साईंनाथ के लखनऊ में आयोजित एक संभाषण कार्यक्रम में गयी थी.

अपने भाषण में साईंनाथ ने कहा था कि हमारी पत्रकारिता और हमारी पूरी व्यवस्था के लिए यदि कोई सबसे बड़ा खतरा है तो वह पेड न्यूज़ है, जिसमे मालिकान एकमुश्त पैसा ले कर खबरें छपवा दे रहे हैं. उन्होंने इसके ना जाने कितने ही वास्तविक उदाहरण दिए थे. मैं उनकी बातों से पूरी तरह सहमत हूँ.

हमारी संस्था इंस्टीट्यूट फोर रिसर्च एंड डॉक्युमेंटेशन इन सोशल साइंसेज (आईआरडीएस) द्वारा “पेड न्यूज़ और भारतीय पत्रकारिता” शीर्षक से लघु शोधपत्र आमंत्रित किये जा रहे हैं. इस शोधपत्र में भारतीय पत्रकारिता तथा पेड न्यूज़ से जुड़े किसी भी आयाम पर अपनी बात लिखी जा सकती है.

लेखक चाहें तो पूरी सम्पूर्णता में इस बिंदु पर अपना आकलन और अपने विचार प्रस्तुत कर सकते हैं और यदि वे चाहें तो वे इसके किसी खास आयाम पर अपना शोधपत्र प्रेषित कर सकते हैं. किसी एक उदाहरण पर अपने आप को केंद्रित करते हुए भी यह शोधपत्र लिखा जा सकता है.

इस शोधपत्र को प्रेषित करने की अंतिम तिथि 31 अप्रैल 2011 होगी. शोध पत्र ईमेल द्वारा This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it , This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it पर अथवा डाक द्वारा निम्न पते पर प्रेषित किया जा सकता है-

लघु शोधपत्र प्रेषित करने के निम्न नियम रहेंगे-

1. शोधपत्र को प्रेषित करने की अंतिम तिथि 31 अप्रैल 2011 होगी.

2. शोधपत्र दिए गए ईमेल अथवा बताए गए पते पर डाक द्वारा भेजा जा सकता है.

3. शोधपत्र की अधिकतम शब्द सीमा 5000 शब्द होगी जबकि इसमें न्यूनतम 1500 शब्द होने चाहिए.

4. शोधपत्र प्रेषित करने वाले अपना नाम, पता, ईमेल, फोन नंबर आदि साथ में अवश्य प्रेषित करेंगे.

5. शोधपत्र हर कीमत में मौलिक होनी चाहिए और कहीं अन्यत्र छपी नहीं होनी चाहिए.

6. पुरस्कार हेतु सर्वश्रेष्ठ शोधपत्रों का चयन करने का अंतिम अधिकार आईआरडीएस का होगा.

सर्वश्रेष्ठ दो  लघु शोधपत्रों को निम्न रूप से पुरस्कृत किया जाएगा-

प्रथम पुरस्कार- दो हज़ार रुपये

द्वितीय पुरस्कार- एक हज़ार रुपये

साथ ही सर्वश्रेष्ठ लघु शोधपत्र मूल रूप में यशवंत जी के सौजन्य से भड़ास4मीडिया में भी प्रकाशित किया जाएगा.

डॉ. नूतन ठाकुर

सचिव, आईआरडीएस

5/426, विराम खंड,

गोमती नगर, लखनऊ


AddThis