बुरे फंसे अनिल अंबानी, एडीजी के खिलाफ चार्जशीट

E-mail Print PDF

: 2जी स्पेक्ट्रम मामले में सीबीआई ने राजा समेत 9 लोगों और तीन कंपनियों को आरोपी बनाया : टाटा-राडियो फोन टेप प्रकरण की सुप्रीम कोर्ट में रोजाना होगी सुनवाई : केंद्रीय जांच ब्यूरो ने अनिल अंबानी को भी नहीं बख्शा. कह सकते हैं कि 2जी स्पेक्ट्रम मामले में सरकार ने सीबीआई को कार्रवाई की खुली छूट दे रखी है. तभी तो ए. राजा समेत कुल 9 लोगों और तीन कंपनियों को आरोपी बनाते हुए सीबीआई ने चार्जशीट कोर्ट में दायर की है.

चार्जशीट कुल 80 हजार पेज की है. इसे स्टील के सात ट्रंक में भरकर कोर्ट में लाया गया. चार्जशीट में कहा गया है कि ए राजा, कई नौकरशाहों, कई उद्यमियों ने मिलकर साजिश रची और 2जी स्पेक्ट्रम में गड़बड़झाला किया. इस कुकृत्य के कारण देश को 31 हजार करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा. जिन तीन कंपनियों को आरोपी बनाया गया है, उनके नाम हैं- एडीजी, स्वान टेलीकॉम और यूनिटेक वायरलेस. जिन नौ लोगों के नाम चार्जशीट में हैं, वे हैं- ए. राजा, सिद्धार्थ बेहुरा, आरके चंदौलिया, शाहिद उस्मान बलवा, संजय चंद्रा आदि. सीबीआई का कहना है कि 2जी घोटाले से सबसे अधिक फायदा किसी कंपनी ने लिया है तो वो है यूनिटेक.

उधर एक अन्य जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने रतन टाटा की याचिका पर रोजाना सुनवाई का फैसला किया है. सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक 19 अप्रैल से टाटा की याचिका पर रोजाना सुनवाई होगी. टाटा ने नीरा राडिया से फोन पर बातचीत के अंश पोर्टलों व चैनलों पर प्रसारित किए जाने पर पाबंदी की मांग की है. न्यायाधीश जी. एस. सिंघवी और ए. के. गांगुली की पीठ टाटा द्वारा उठाए गए मुद्दे की जांच करेगी. इस दौरान संविधान में वर्णित निजता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की भी जांच होगी.


AddThis