पूर्व सांसद किरीप चालिहा ने पत्रकारों पर लगाया ब्‍लैकमेलिंग का आरोप

E-mail Print PDF

गुवाहाटी। पूर्व सांसद तथा इस बार के असम विधानसभा चुनाव में हाजो विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार किरीप चालिहा ने आज आरोप लगाया कि कुछ समाचार पत्रों के हाजो के स्थानीय संवाददाताओं ने उनसे रुपए की मांग की थी। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों इन संवाददाताओं ने उनसे ऐसा कर ब्लैकमेलिंग की कोशिश की थी। उन्होंने ब्लैकमेलिंग करनेवाले स्थानीय पत्रकार अथवा संबंधित समाचार पत्र का नाम नहीं लिया।

आज यहां पत्रकारों से हुई बातचीत के दौरान श्री चालिहा ने बताया कि विगत 10 अप्रैल को हाजो में हुई एक घटना को लेकर साजिश के तहत मीडिया के जरिए उनके चरित्र हनन की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा इस साजिश में हाजो के कुछ स्थानीय संवाददाता भी सच्चाई को जाने बगैर तथा आरोपी व्यक्ति का बयान लिए बगैर एकतरफा ढंग से समाचार परोस रहे हैं।

श्री चालिहा ने बताया कि उनके अब तक के राजनीतिक जीवन में इस तरह से लोकतंत्र के चौथे स्तंभ से जुड़े लोगों द्वारा समाचार नहीं छापने के एवज में रुपयों की मांग करने की घटना पहली बार हुई है। पत्रकारों की ऐसी भूमिका से खासे नाराज दिख रहे किरीप ने 10 अप्रैल की घटना के बारे में प्रकाश डालते हुए कहा कि उस दिन उनकी पत्नी हाजो के एक बीमार महिला की हालचाल पूछने गई थी तो कुछ युवकों ने उनका रास्ता रोका। बाद में वहां किरीप पहुंचे तो उनको भी रोका गया। उन्होंने जब उक्त बीमार महिला के बारे में भीड़ को बताया तो लोगों ने जाने दिया और ठीक उसी समय मोटर साइकिल से कुछ युवक वहां पहुंचे और उनके वाहन पर पथराव करने लगे।

श्री चालिहा ने बताया कि उस दौरान उनका पीएसओ घायल हो गया। माहौल को शांत बनाए रखने के लिए वे वहां से चले गए और एक घर में बैठ उक्त घटना संदर्भ में प्राथमिकी लिखने लगे ताकि पुलिस को दिया जा सके। ऐसे में कुछ युवक वहां पहुंचे और घर में पथराव करने लगे। उस दौरान घर में मौजूद जिलिमा दास नामक युवती द्वारा इसका विरोध किया गया तो युवकों के दल ने अश्लील शब्दों से गाली गलौज करना शुरू कर दिया। घर के बाहर खड़े उनके वाहन को युवक दल ने चकनाचूर कर दिया। उन्होंने सफाई दी कि उस दिन वे चुनाव प्रचार करने कतई नहीं गए थे तथा एक राजनीतिक दल के उम्मीदवार के इशारे पर यह सब किया गया है।

श्री चालिहा ने आरोप लगाया है कि इसी घटना को लेकर हाजो के कुछ स्थानीय संवाददाता उनके साथ मोल भाव पर उतर आए और रुपए नहीं दिए जाने का नतीजा खराब होने की भी धमकी दी। इसके बाद से श्री चालिहा के खिलाफ चरित्र हनन संबंधित खबरें प्रकाशित होने लगे।

गुवाहाटी से नीरज झा की रिपोर्ट.


AddThis