दैनिक नवज्‍योति, कोटा के कर्मचारी हड़ताल पर, तीन दिन से नहीं छप रहा अखबार

E-mail Print PDF

दैनिक नवज्‍योति, कोटा में प्रबंधन के रवैये से नाराज दो दर्जन से ज्‍यादा कर्मचारी हड़ताल पर बैठे हुए हैं. जिसके चलते पिछले तीन दिनों से कोटा में अखबार का प्रकाशन पूरी तरह बंद पड़ा हुआ है. प्रबंधन के समझाने के बावजूद कर्मचारी कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हैं. उनका कहना है कि प्रबंधन पहले यह आश्‍वासन दे कि वो उन लोगों को प्रताडि़त करना बंद करेगा. प्रबंधन लगातार स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहा है परन्‍तु कर्मचारी टस से मस नहीं हो रहे हैं.

जानकारी के अनुसार प्रबंधन कुछ स्‍थायी कर्मियों के साथ लगातार सौतेला व्‍यवहार कर रहा था. इन लोगों को परेशान किए जाने के उद्देश्‍य से लगातार कुछ-कुछ महीनों के बाद अजमेर, भीलवाडा़ और जयपुर तबादला कर दे रहा था. इसके चलते कर्मचारी पूरी तरह परेशान हो गए थे. कर्मचारियों का आरोप है कि प्रबंधन जानबूझकर उनको परेशान और प्रताडि़त करता था, ताकि हमलोग खुद अखबार से इस्‍तीफा देकर चले जाएं.

नवज्‍योति

कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि मालिक-संपादक नरेंद्र चौधरी  बिना वजह पुराने लोगों को भी परेशान कर रहे हैं. कर्मचारियों ने कहा कि जब पानी सिर से ऊपर हो गया तब हमलोगों को यह कदम उठाना पड़ा. प्रबंधन कई लोगों का तबादला बिनावजह दूसरे एडिशनों में कर दिए थे.

कर्मचारियों के इस हड़ताल के चलते दैनिक नवज्‍योति का प्रकाशन पिछले तीन दिनों से ठप पड़ा हुआ है. एक भी अखबार प्रकाशित नहीं हुआ. बताया जा रहा है कि हड़तालरत कर्मचारी किसी को भी कार्यालय के अंदर घुसने नहीं दे रहे हैं. मालिक को भी इन लोगों ने अंदर घुसने नहीं दिया था. प्रबंधन भी इन लोगों को अपने तरीके से समझाने की कोशिश कर रहा है, पर यह अपनी समस्‍याओं के समाधान के प्रति स्‍पष्‍ट आश्‍वासन और कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.


AddThis