मातुश्री कमला गोइन्‍का और किशोर कल्‍पनाकांत पुरस्‍कार के लिए प्रविष्ठियां आमंत्रित

E-mail Print PDF

कमला गोइन्‍का फाउंडेशन ने वर्ष 2011 के लिए 'मातुश्री कमला गोइन्का राजस्थानी साहित्य पुरस्कार` के लिए प्रविष्ठियां आमंत्रित की है. इस पुरस्‍कार की शुरुआत वर्ष 1999 में श्यामसुंदर गोइन्का ने अपनी माताजी श्रीमती कमला गोइन्का की स्मृति में किया था. इस पुरस्‍कार के तहत प्रत्‍येक दूसरे वर्ष राजस्‍थानी साहित्‍य, भाषा और कृति को समग्र योगदान देने वाले को 51000 रुपये (इक्कावन हजार रुपये) प्रदान किया जाता है.

कमला गोइन्का फाउन्डेशन के अध्यक्ष व प्रबन्ध न्यासी श्री श्यामसुन्दर गोइन्का ने मातुश्री कमला गोइन्का की स्मृति में राजस्थानी साहित्य के लिए समर्पित साहित्यकारों को वर्ष 1999  से ``मातुश्री कमला गोइन्का राजस्थानी पुरस्कार'' देते आ रहे हैं. यह पुरस्कार गत 10 वर्षों में लिखित व प्रकाशित पुस्तक व राजस्थानी भाषा-साहित्य में उनके समग्र योगदान में द्विवार्षिक कालावधि में प्रदान किया गया है. इसमें धनराशि के अतिरिक्‍त शॉल, श्रीफल, स्मृति-चिन्ह और  पुष्पगुच्छ प्रदान किया जाता है.

इसी कड़ी में 'किशोर कल्पनाकांत राजस्थानी युवा साहित्यकार पुरस्कार`  के लिए भी प्रविष्ठियां आमंत्रित की गई हैं. इस पुरस्‍कार की शुरुआत वर्ष 2007 में राजस्थानी के वरिष्ठ साहित्यकार श्री किशोर कल्पनाकांत की स्मृति में की गई थी.  इस पुरस्कार के अंतर्गत राजस्थानी के ऐसे नवोदित लेखकों को उनकी पांडुलिपि के लिए पुरस्‍कार दिया जाता है, जिनकी अभी तक कोई पुस्तक प्रकाशित नहीं हुई है.  इस पुरस्कार के अंतर्गत पुस्तक प्रकाशन में संपूर्ण सहयोग व नगद पुरस्कार के रूप में राशि 5000 रुपये (पांच हजार रुपये) प्रदान की जाती है.  इन दोनों पुरस्‍कारों के लिए अधिक जानकारी प्राप्‍त करने तथा प्रविष्ठियां भेजने के लिए इस ई-मेल This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it या 022-  24939235,  24936111 का सहारा लिया जा सकता है.


AddThis