भ्रष्‍ट मीडिया‍कर्मियों का भी बहिष्‍कार करें अन्‍ना के लोग : महेश भट्ट

E-mail Print PDF

सुप्रसिद्ध फिल्‍मकार महेश भट्ट ने भ्रष्‍टाचार के विरोध में चलाए जा रहे आंदोलन की अगुवाई करने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं से उन मीडिया घरानों तथा मीडियाकर्मियों का बहिष्‍कार करने की अपील की है जो खुद भ्रष्‍टाचार में संलिप्‍त हैं. महेश भट्ट ने आज यहां यूनीवार्ता संवाददाता के साथ बातचीत में कहा कि भ्रष्‍टाचार खत्‍म करने के लिए आंदोलन चलाने वाले अग्रणी रहने वाले कई सामाजिक कार्यकर्ता प्रचार के इतने भूखे हैं कि वे उन चैनलों के कार्यक्रमों में भी बढ़-चढ़ कर हिस्‍सा लेते हैं, जिनमें काम करने वाले शीर्ष मीडियाकर्मियों पर भ्रष्‍टाचार में लिप्‍त होने के आरोप लग रहे हैं.

उन्‍होंने एक प्रमुख अंग्रेजी समाचार चैनल की शीर्ष पत्रकार की तरफ इशारा करते हुए कहा कि कई प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता उक्‍त पत्रकार की ओर से आयोजित कार्यक्रम में जाने से कोई परहेज नहीं करते जबकि सबको उस पत्रकार की असलियत पता है. उन्‍होंने सवाल किया कि भ्रष्‍टाचार को लेकर आंदोलन चलाने वाले और अपने को ईमानदार होने का अहंकार पालने वाले ऐसे में इन सामाजिक कार्यकर्ताओं की नैतिकता उस समय कहां चली जाती है, जब वे ऐसे पत्रकार और मीडिया हाउस के कार्यक्रमों में पूरी खुशी के साथ हिस्‍सा लेते हैं.

श्री भट्ट ने कहा कि उन्‍हें गांधीवादी समाजसेवी अन्‍ना हजारे की अगुआई में चल रहे आंदोलन में शामिल लोगों में यह अहंकार है कि सबसे ईमानदार और पाक-साफ वे लोग ही हैं. ऐसे में सवाल यह उठता ही है कि अगर ये लोग भ्रष्‍टाचार के आरोपों से घिरे राजनीतिक नेताओं का बहिष्‍कार कर रहे हैं तो ये लोग उन मीडियाकर्मियों एवं मीडिया घरानों का बहिष्‍कार क्‍यों नहीं करते जिनकी पेशेगत ईमानदारी पर सवाल उठ रहे हैं और जिनके भ्रष्‍टाचार में लिप्‍त होने के आरोप लग रहे हैं. साभार : यूनीवार्ता


AddThis