अपना वजूद बचाए रखने के लिए निरंतर अपडेट होते रहें पत्रकार

E-mail Print PDF

वर्तमान में पत्रारिता पर बाजार हावी होता जा रहा है। यह स्थिति उत्साहजनक नहीं है और इस दिशा में पत्रकारिता से जुडे़ सभी पक्षों को सकारात्मक प्रयास करने चाहिए। समय के साथ चुनौतियों का सामना करने के लिए पत्रकारों को निरंतर अपडेट होते रहने की आवश्यकता है। संस्थान राजनीति ओर संकीर्ण मानसिता से ऊपर उठकर अपने मूल्यों को मजबूत बनाने पर ही प्रतिस्पर्धा के वर्तमान दौर में टिके रहना संभव है।

ये विचार राजस्थान पत्रकार संघ जार की ओर से रविवार को होटल इन क्लार्कस में आयोजित प्रां‍तीय सम्मेलन के दौरान सामूहिक रूप से सामने आई। सम्मेलन में एनयूजे के राष्ट्रीय महासचिव रासबिहारी ने कहा कि पिछले एक दशक में पत्रकारिता का स्वरूप बदला है और भविष्य में इसी और नई तस्वीर होगी। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि मैं पत्राकारिता को मिशन नहीं मानता शायद है मेरे विचारों से कोई ओर सहमत ना हो लेकिन मेरे ये विचार हैं,  पत्रकारिता  समाज का एक आईना है आज भी लोगों को मीडिया पर पूरा भरोसा है इसलिए इसे पारदर्शिता बनाये रखना जरूरी है। उन्होंने कहा कि पत्रकारों को अपना वजूद बनाये रखने के लिए निरंतर अपडेट होते रहना भी जरूरी है।

पूर्व प्रदेशाध्यक्ष राजेन्द्र बोडा ने कहा कि मुद्रा की तरह अपने मूल्य को बनाए रखने पर बल देते हुए संगठनात्मक मुद्दों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि हालांकि मैं इस कार्यक्रम को चुपचाप बैठे देखना चाहता था लेकिन ऐसा होने नहीं दिया ओर मुझे मंच पर ला बिठाया। जार के प्रदेशाध्यक्ष ललित शर्मा ने कहा कि संगठन में ही शक्ति है। फील्ड में कार्य करने के दौरान पत्रकारों को होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए भी संगठन ने एक अलग विंग स्थापित की है।

उन्होंने कहा कि जार में केवल पत्रकारिता से जूडे लोगों को ही जोडे़ यह मेरा मानना है। उन्होने कहा कि पत्रकार कल्याण कोष से प्रदेश में कई लोगों की मदद कराई गई है ओर आगे ऐसा निरन्तर होता रहेगा। मुझे कोई भी पत्रकार गुमनाम या नाम से पत्रकारों के हित के लिए सुझाव दे सकता है उस पर विचार कर अमल में लायेंगे। कार्यक्रम में आए प्रदेश महासचिव ने संतोष निर्मल ने एक महत्वपूर्ण सुझाव देते हुए कहा कि अपने पत्रकार पेशे को सबसे अच्छा पेशा  माने किसी भी पत्रकार को फर्जी नहीं बतायें इससे अपना सम्मान घटता है उसे अपने ऊपर छोड़ देवें।

कार्यक्रम को दो चरणों में आयोजित किया गया प्रथम चरण में पत्रकार विचार गोष्ठी तथा द्वितीय चरण में सभी जिलों की रचनात्मक स्थिति पर विचार किया गया। कार्यक्रम को प्रारम्भ करते हुए अलवर जिला इकाई अध्यक्ष घनश्याम एस बाघी ने मंच पर विराजे सभी अतिथियों का तिलक लगवाकर साफा व माला पहनाकर स्वागत कराया। कार्यक्रम में जार पत्रिका का विमोचन कराया गया।

विशिष्ठ अतिथि के रूप में नगर परिषद सभपति श्रीमती हर्षपाल कौर, डॉ. वीके अग्रवाल, आईईटी इंजीनियरिंग कॉलेज के चेयरमैन, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार बोडा, प्रदेश सचिव संतोष निर्मल, राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष श्रीमती उषा वर्मा, आदि थे। कार्यक्रम में स्थानीय पत्रकार धर्मेन्द्र अदलक्खा, गफूर खान, ज्योति शर्मा, जार महासचिव अलवर इकाई भगवान सहाय साहू, पुष्पेन्द्र बसेन्द्र, राजीव श्रीवास्तव, नीता जैन, राजीव शर्मा, विजय मिश्रा, कमलकिशोर, श्याम सोमवंशी, आदि पत्रकारों ने भाग लेकर आये हुए अतिथियों का स्वागत किया। शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम सात बजे से होटल मयूर में सम्पन्न हुआ जिसमें स्थानीय कलाकार बनेसिंह प्रजापत एण्ड पार्टी तथा फारूक खान भपंग वादक एण्ड पार्टी ने भाग लेकर कार्यक्रम में चार चांद लगा दिये।


AddThis