दो मई को सोनिया गांधी से मिलेंगे पत्रकार

E-mail Print PDF

देश भर के समाचार-पत्र और समाचार एजेंसियों के पत्रकार और गैर-पत्रकार कर्मचारी मजीठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों को शीघ्र अधिसूचित किए जाने की मांग को लेकर दो मई को यूपीए अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के पास गुहार लगाएंगे. कनफेडरेशन आफ न्‍यूजपेपर एंड न्‍यूज एजेंसी एम्‍पलाइज आर्गेनाइजेशन की गुरुवार को यहां हुई एक बैठक में यह फैसला किया गया.

वेतन बोर्ड की सिफारिशों की अधिसूचना जारी करने में की जा रही देर अब कनफेडरेशन ने सत्‍तारूढ़ गठबंधन की नेता सोनिया गांधी से मिलकर उनसे अधिसूचना शीघ्र जारी करने के लिए सरकार को स्‍पष्‍ट निर्देश देने का आग्रह करने का फैसला किया है. कनफेडरेशन के महासचिव एमएस यादव ने कहा, 'वेतन बोर्ड को श्रम मंत्रालय को सिफारिशें दिए चार महीने बीत गए. लेकिन सरकार ने कोई अधिसूचना जारी नहीं की, जिससे देश भर के पत्रकारों व गैर-पत्रकार कर्मचारियों में खासी नाराजगी है.  पत्रकार और गैर-पत्रकार कर्मचारी अपनी इस मांग को लेकर दो मई को दिल्‍ली में जुटेंगे. वे यूपीए प्रमुख सोनिया गांधी के आवास पर जा कर उनसे अपील करेंगे कि वे सरकार को वेतन बोर्ड की सिफारिशों पर अधिसूचना जारी करने का निर्देश दें.'

यादव ने कहा- केंद्र सरकार के अनेक मंत्री पत्रकारों की मांग का समर्थन करते रहे हैं. फिर भी श्रम मंत्रालय में यह मामला अटका है. उन्‍होंने कहा कि मीडिया घरानों के दबाव में ही सरकार अधिसूचना जारी करने में देर कर रही है. संसद में भी पूर्व केंद्रीय मंत्री और राष्‍ट्रीय जनता दल के रघुवंश प्रसाद सिंह, कांग्रेस के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता मनीष तिवारी, राजद के रामकृपाल यादव और जनता दल के सुशील सिंह समेत विभिन्‍न सदस्‍यों ने संसद में समर्थन किया था. पूर्व जस्टिस जीआर मजीठिया की अध्‍यक्षता वाले वेतन बोर्ड ने 31 दिसम्‍बर 2010 को अपनी सिफारिशें सरकार को सौंप दी थी.  साभार : एजेंसी


AddThis