अदालत में पेश हुई कनिमोझी, सुनवाई कल तक के लिए टली

E-mail Print PDF

2जी स्‍पेक्‍ट्रम आबंटन घोटाले में चार्जशीटेड डीएमके सांसद एवं करुणानिधि की बेटी कनिमोझी शुक्रवार को कोर्ट में पेश हुईं. इसके साथ ही उनके वकील राम जेठमलानी ने जमानत के लिए अग्रिम अर्जी लगा दी है. इस मामले की सुनवाई कल तक के लिए टाल दी गई है. आज कोर्ट में कनिमोझी ने अपना पक्ष रखा. कल सीबीआई अपना पक्ष रखेगी. इस मामले में सीबीआई कनिमोझी को हिरासत में नहीं लेगी.

कनिमोझी ने पटियाला हाउस कोर्ट में अपनी जमानत अर्जी दाखिल की है. उनके वकील राम जेठमलानी ने कोर्ट में कहा कि स्‍पेक्‍ट्रम घोटाले से कनिमोझी का कोई लेनादेना नहीं है. इनको इस मामले की कोई जानकारी नहीं थी. ये कलइगनार टीवी में महज एक शेयर होल्‍डर थीं, इसलिए उन्‍हें कंपनी के रोजाना के कार्यों की जानकारी नहीं रहती थी. जेठमलानी ने कहा कि पूरी साजिश तो पूर्व केंद्रीय मंत्री और डीएमके नेता ए राजा ने की थी. कनिमोझी के खिलाफ साजिश रचा गया है.

कनिमोझी पर आरोप है कि उन्होंने पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा के साथ आपराधिक षड्यंत्र रचकर कलइगनार टीवी के जरिए अवैध धन हासिल किया था। यह चैनल तमिलनाडु की सत्तारूढ़ डीएमके से जुड़ा है. इसमें कनिमोझी की 20 प्रतिशत हिस्सेदारी है. 2जी घोटाले से जुड़ी रकम इस चैनल को भी मिली थी. सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि आगे की जांच के लिए हमें कनिमोझी की हिरासत की जरूरत है। चार्जशीट पूरी करने से पहले हमारे अधिकारी कनिमोझी से पूछताछ कर चुके हैं। अब यह कोर्ट पर निर्भर है कि वह उनके बारे में क्या फैसला लेती है।'

उल्‍लेखनीय है कि कनिमोझी की अदालत में पेशी के समय उनके साथ डीएमके के पांच सांसद भी थे. दूसरी तरफ यह पहला मौका है जब डीएमके के किसी नेता की तरफ से ए राजा को दोषी बताया गया है. अब तक पार्टी उन्‍हें बेकसूर बताती रही थी.


AddThis