ये है मेरी संपत्ति

E-mail Print PDF

भाई नंगा नहाए क्या और निचोड़े क्या? ऐसा ही फटा हाल हमारा है. हम कहने को पत्रकार हैं. पिछले एक दशक से ज्‍यादा समय से मीडिया में काम कर रहे है. जब नौकरी मिल जाती है तो नौकरी कर लेते हैं,  जब नौकरी नहीं मिलती है तो अपना काम शुरू कर देते हैं.  ग्‍यारह साल की पत्रकारिता करते हुए ये कभी नहीं सोचा था, पत्रकारों की इतनी पगार हो सकती है.  मैं शुक्रिया अदा करता हूं भड़ास4मीडिया.कॉम का जो बड़े पत्रकारों की पगार का खुलासा किया.

खबर पढ़ते वक़्त मैं बेहोश नहीं हुआ. क्यों कि मैं जनता हूं हमारे देश में इमानदारी को ताक पर रखकर लोग पत्रकारिता करते हैं. परन्तु अभी कुछ पत्रकार ऐसे हैं जो जून की रोटी के लिए दर दर भटकते रहते हैं. अब बड़े-बड़े पत्रकार अपनी संपत्ति घोषित कर रहे हैं तो हमें भी थोड़ा सा जोश आ गया. तो सुनो भैया--

1- एक जनता फ्लैट नोएडा में  -- 1500000/- रुपये
2 - दो मोबाइल फ़ोन -- 8000/- रुपये
3 - बैंक बैलेंस --  5000/- रुपये
4 - एक कैमरा -- 15000/- रुपये

दहेज़ में हमें पढ़ी-लिखी पत्नी मिली जो नौकरी करके मेरे घर का गुजारा चलाती है. अभी पत्नी का तबादला मुंबई में हुआ तो हम भी उसके साथ लटक कर चले गए. आज कल भाड़े के घर में जिन्दगी गुजार रहे हैं. पत्रकार भाई लोग पूछते हैं इतनी साइट कैसे चलाते हो. भाई मैंने पीजी मैनेजमेंट इन आईटी और मार्केटिंग किया है इसलिए जुगाड़ कर लेता हूं.

सुशील गंगवार

साक्षात्कार.कॉम

फ़ोन- 09167618866


AddThis