ये हैं अमर सिंह के छह टेप... प्रभु चावला, जेपी गौड़, जया प्रदा आदि से बातचीत के टेप

E-mail Print PDF

सुप्रीम कोर्ट ने जब अमर सिंह के टेप से रोक हटा लिया है तो फिर आइए सभी सुन लेते हैं कि इन टेपों में क्या राज और रहस्य है और किनसे किनसे क्या क्या बातचीत अमर सिंह कर रहे हैं. फिलहाल यहां छह टेप जारी किए जा रहे हैं. ये सभी एमपी3 फार्मेट में हैं. आडियो प्लेयर पर क्लिक करें और आडियो प्लेयर में बने साउंड के निशान को फुल पर ले जाएं. फिर बातचीत सुनें. इन टेपों में सबसे पहले अतुल गुप्ता, दूसरे नंबर पर जेपी इंडस्ट्रीज वाले जेपी गौड़ से बातचीत है. चौथे नंबर वाले टेप में प्रभु चावला से अमर सिंह की बातचीत है.

1-- इस पहले टेप में यूपी के वरिष्ठ आईएएस अफसर अतुल गुप्ता को अमर सिंह एक उद्यमी को लाभ पहुंचाने के लिए कह रहे हैं और गुप्ता जी सर सर करते हुए अंततः अमर सिंह के कहे अनुसार सब कुछ करने कराने को तैयार हो जाते हैं... सुनिए.. कैसे नेता और अफसर मिलकर बड़े लोगों के लिए नियम कानून बदल डालने को तैयार हो जाते हैं....

There seems to be an error with the player !

2--इस दूसरे टेप में जेपी इंडस्ट्री वाले जेपी गौड़ को अमर सिंह पटा रहे हैं और जेपी गौड़ लाभ पाने के लिए लार टपकाते हुए अमर सिंह को तेल लगा रहे हैं... अमर सिंह कैसे शिकार पटाते थे, उसका ये नमूना है...

There seems to be an error with the player !

3--इस तीसरे टेप में अमर सिंह किसी दीपक से कह रहे हैं कि वे देवेंदर तक 96.5 लाख रुपये पहुंचा दें... क्या है माजरा, जानने के लिए नीचे दिए गए इस आडियो प्लेयर को क्लिक करके सुनें...

There seems to be an error with the player !

4--अमर सिंह के आगे प्रभु चावला किस तरह गिड़गिड़ा रहे हैं, हाथ जोड़कर माफी मांग रहे हैं... आजतक के सर्वेसर्वा न होने की मजबूरी गिना रहे हैं... उफ्फ... ये टेप सुनेंगे तो आपको न सिर्फ प्रभु चावला बल्कि मीडिया में बैठे ज्यादातर संपादकों के खोखलेपन का एहसास हो जाएगा...इस टेप को जरूर सुनें और पूरा सुनें...

There seems to be an error with the player !

5--अमर सिंह की जया से बातचीत. अमर सिंह और जया के बीच कितने करीबी रिश्ते रहे हैं और कैसे अमर अपनी सभी भावनाओं का इजहार जया के सामने कर दिया करते थे, जया को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें सब कुछ सुनाते सिखाते और समझाते रहते थे, ये इस टेप से जाहिर है....

There seems to be an error with the player !

6--अमर सिंह दीवाली के आसपास घर आए गिफ्ट को छोड़ते नहीं है. वे खुद कह रहे हैं इस टेप में. उनके यहां कोई आया और स्विफ्ट कार देने की जिद करने लगा लेकिन अमर सिंह को डर इस बात का है कि कहीं उनके नाम स्विफ्ट गिफ्ट हो जाए तो कल को इसका खुलासा होने पर बवाल न मच जाए, सो, वे अपने एक करीबी से इस तोहफे को कुबूल करने के तौर-तरीके के बारे में चर्चा कर रहे हैं...

There seems to be an error with the player !


इसके आगे के टेप सुनने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें...

अमर टेप कथा भाग 2

अमर टेप कथा भाग 3


AddThis