छात्रा का अश्लील एमएमएस बना दोस्तों में बांट दिया

E-mail Print PDF

: बरेली में हुआ शर्मनाक हादसा, सकते में है शहर : ब्लूटूथ के जरिये कई मोबाइल तक पहुंची क्लिपिंग : बहेडी थाने में दर्ज की गयी वारदात की एफआईआर : साजिश में एक महिला समेत दो करीबी भी शामिल : अमन का शहर माने जाने वाले बरेली का चेहरा इस बार अपनी ही करतूतों के चलते बुरी तरह काला हो गया। एक युवती की मदद करने के बहाने उसका अपहरण किया गया फिर उसे एक मकान में ले जाकर उसके साथ जबर्दस्ती की गयी।

विरोध करने पर युवती को बेहोशी की दवा सुंघा कर उसका अश्लील एमएमएस बना डाला। बाद में एमएमएस को ब्लूटूथ के जरिये अन्य मोबाइलों तक रवाना कर दिया। साजिश में एक नकाबपोश महिला भी शामिल थी और यह सभी लोग पीड़ित युवती के परिचित थे। यह वारदात यूपी के बरेली के एक कस्बे में हुई। पुलिस अब मामले की छानबीन में जुट गयी है। बरेली के एस.पी.सिटी ऑफिस में चहरे को नकाब से छुपाये इस युवती ने अपने साथ हुए हादसे का खुलासा किया।

देवरनियां कस्बे की रहने वाली नजमा (काल्पनिक नाम) आईटीआई की छात्रा है। नजमा देवरनियां से बरेली शहर के इज्जतनगर तक ट्रेन से और फिर वहां से टेंपो से आईटीआई तक पढाई करने जाती है। शनिवार को भी वह रोजाना की ही तरह इज्जतनगर स्टेशन के पास बाईपास मोड़ पर टेंपो का इंतजार कर रही थी। उसी दौरान छात्रा के पास एक कार रुकी, उसमें दो युवक और एक युवती थे। कार चलाने वाला देवरनियां का ही रहने वाला राशिद था जो पास के ही एक मोबाइल टावर पर गार्ड की नौकरी करता है। जबकि पीछे एक और युवक रशीद था और उसके साथ एक नकाबपोश युवती भी बैठी थी। पीछे बैठे युवक ने कार का पिछला दरवाजा खोलकर उसे साथ ले जाने का निमंत्रण देते हुए नजमा से कहा कि वे लोग आईटीआई की तरफ जा रहे हैं, उसे रास्ते में छोड़ देंगे।

चूंकि यह लोग नजमा और उसके परिजनों के परिचित थे, इसलिए वह उनके साथ बैठ गई। लेकिन जब कार आईटीआई के बजाय दूसरी ओर जाने लगी तो छात्रा को शक हुआ और उसने विरोध शरू कर दिया। विरोध बढने पर युवक ने नजमा के मुंह पर बेहोशी की दवा से भीगा रुमाल लगाकर उसे बेहोश कर दिया। नजमा को कुछ देर बाद होश आया तो वह एक कमरे में थी। यह कमरा कहां था, नजमा नहीं जानती। कमरे में उसने राशिद और शादाब को पाया, लेकिन कार में उसके साथ बैठी युवती नहीं थी। दोनों ही दरिंदों ने उसके साथ अश्लील हरकतें की और बना डाली उसकी अश्लील क्लिपिंग।

इस हादसे के बाद से नजमा बेहद सहमी हुई थी। मुन्ना (लड़की के पिता का बदला हुआ नाम) का कहना है कि राशिद और शादाब ने जब अपने दोस्तों में क्लिपिंग बांट दी तो मामले का खुलासा हुआ। यह क्लिपिंग घूमते हुए छात्रा के घरवालों तक पहुंच गई। तब इस छात्रा की अस्मत के लुटेरों की करतूत के बारे में परिवारवालों को पता चला। एक दोस्त के जरिए छात्रा के भाई तक वह क्लिपिंग पहुंच गई। तब नजमा के भाई ने घर बताया और फिर मां-बाप ने नजमा से पूछताछ की। इस पर उसने पूरी घटना बताई जिसके बाद परिजनों ने बिना देर किये पुलिस में दोनों आरोपितों की शिकायत की।

एसपी सिटी अतुल सक्सेना ने मामले की गंभीरता को देखते हुए इस वारदात में बहेड़ी पुलिस को एफआईआर दर्ज करने और आरोपितों की तत्काल गिरफ्तारी का आदेश दिया है। उधर इस जघन्य कांड के आरोपित फिलहाल फरार हैं। लेकिन पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिशें दे रही है। नजमा, उसके परिवारीजनों और पुलिस के सामने सबसे बड़ी समस्या और चिंता का विषय है युवकों द्वारा अश्लील क्लिपिंग को ब्लूटुथ के जरिए अपने दोस्तों में बांट देना।


AddThis