बुरे फंसे पत्रकार भारत भूषण नौटियाल, कोर्ट ने लगाया जुर्माना

E-mail Print PDF

टूजी घोटाले को लेकर पत्रकार भारत भूषण नौटियाल ने सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में एक याचिका लगा रखी थी. इसमें नौटियाल ने कोर्ट से अपील की थी कि वह वीडियोकॉन संचालित डेटाकॉम, एसटेल, एयरसेल, मैक्सिस जैसी टेलीकाम कंपनीज को भी टूजीस्पेक्ट्रम प्रकरण में आरोपी बनाने के लिए सीबीआई को निर्देश दे. अपनी याचिका में पत्रकार ने आरोप लगाया था कि कुछ टेलीकाम कंपनीज टूजी लाइसेंस पाने के लिये अयोग्य थीं पर उन्हें फायदा पहुंचाने के लिये नियमों को तो़ड़ डाला गया.

इस याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया. सीबीआई के विशेष न्यायाधीश ओपी सैनी ने मुंबई के पत्रकार भारत भूषण नौटियाल पर जुर्माना भी ठोंक दिया है. ऐसा याचिका को बेवजह मानते हुए किया. जज ने पत्रकार को आगाह किया कि अगर वह तीन दिन के अंदर निर्धारित जुर्माना नहीं भरते हैं तो उनके खिलाफ वारंट जारी कर दिया जाएगा. विशेष जज ओपी सैनी ने आधारहीन याचिका लगाने के लिए 10 हजार रुपए का जुर्माना पत्रकार पर लगाया है.


AddThis