घर-घर गूंज रहे निशंक के घोटाले

E-mail Print PDF

नरेंद्र सिंह : निशंक की करतूतों पर लोकगायक नरेंद्र सिंह नेगी ने लांच की आडियो सीडी :  यूपी सूचना विभाग की नौकरी में रहते हुए सरकारी दमन की चिंता किए बगैर उत्तराखंड आंदोलन को अपनी आवाज देने वाले प्रसिद्ध गढ़वाली लोकगायक नरेन्द्र सिंह नेगी की एक आडियो सीडी से इन दिनों निशंक सरकार घबराई हुई है।

आज के बाजारू दौर में जब नेता, अभिनेता, लेखक, पत्रकार और गायक सब बिकाउ माल हो गए हैं, तब भी लोकगायक नरेन्द्र सिंह नेगी अपनी पूरी प्रतिबद्धता के साथ लोक के पक्ष में खड़े हैं। 2007 के विधानसभाई चुनाव से ठीक पहले एनडी तिवारी की रंगीन मिजाजी और घपले-घोटालों पर 'नौछमी नारेणा' टाइटल से वीडियो सीडी बाजार में उतारकर नेगी ने कांग्रेस की सत्ता से विदाई का गीत लिख दिया था। कांग्रेसी आज भी उत्तराखंड की सत्ता से बेदखली के लिए इस लोक गायक पर तोहमत मढ़ते हैं। तब विपक्ष में बैठी भाजपा को खुश होने का मौका मिला था, लेकिन अब उसी का विदाई गीत सामने आ गया है।

करीब पांच साल बाद नेगी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ 'अब कदगा खैल्यो' यानी 'अब कितना खाएगा'  आडियो सीडी से निशंक की नींद हराम कर दी है। राज्य की निशंक सरकार के घपले-घोटालों पर केन्द्रित इस नई आडियो सीडी से निशंक की पोल खोली गई है। 2007 के चुनाव में एनडी तिवारी की रंगीन मिजाजी पर केन्द्रित नेगी की ही वीडियो सीडी 'नौछमी नारेणा' को अपना प्रचार का माध्यम बनाने वाले भाजपाई अब यह कहते हुए अपना बचाव करने की कोशिश कर रहे हैं कि नेगी की इस नई सीडी में टूजी और कॉमनवेल्थ घोटाले का भी जिक्र है, लिहाजा उत्तराखंड में हम भ्रष्ट हैं तो केन्द्र में कांग्रेसी भी कम भ्रष्ट नहीं हैं, दोनों के ही दामन दागदार हैं। नेगी के चाहने वाले भ्रष्टाचार के खिलाफ इस नई सीडी को हाथों-हाथों ले रहे हैं।

निशंक सरकार इस नई सीडी से कितनी पगलाई हुई है, इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि जिस होटल में सीडी की लॉंचिंग हो रही थी, वहां सरकार की ओर से न केवल खुफिया विभाग के कर्मचारी तैनात किए गए थे, बल्कि निशंक ने इससे पहले सीडी की लांचिंग रोकने के लिए नेगी की मान-मनौव्वल की हर संभव कोशिश भी की, लेकिन सफल नहीं हो पाए। नेगी ने इस ऑडियो सीडी को भ्रष्टाचार के खिलाफ भूख हड़ताल करने वाले गांधीवादी अन्ना हजारे के जन-आन्दोलन को समर्पित किया है। 'कमिशन की मीट भात' गाने के जरिये नेगी ने जहां राज्य में हो रहे घोटालों को प्रमुखता से उठाया है, वहीं केन्द्र सरकार पर भी निशाना साधा है। निशंक के घोटालों में हाइड्रो पॉवर प्रोजेक्ट, स्टर्डिया, कुंभ और कमीशनखोरी को मुख्य मुददा बनाया गया है। वहीं टूजी और कॉमनवेल्थ घोटालों के लिए कांग्रेस की घेराबंदी की गई है।

अपनी नई आडियो सीडी की लांचिंग पर नेगी ने कहा- 'भ्रष्टाचार देश में एक बहुत बड़ा मुद्दा है। भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन को धार देने के लिए ही इस आडियो सीडी में कमीशनखोरी और सरकारों की लूट खसोट की नीयत पर सवाल उठाए गए हैं।'  गढ़वाली जानने-समझने वाले घरों में यह आडियो सीडी खूब सुनी जा रही है। रंगीन मिजाज तिवारी के बाद अब इसे निरंकुश निशंक की सत्ता से विदाई गीत के रूप में सुना जा रहा है।

देहरादून से दीपक आजाद की रिपोर्ट.


AddThis