रामदेव के भाजपा एजेंट होने की चुगली करते ये दो वीडियो

E-mail Print PDF

: क्या भाजपा नेताओं के इशारे पर टूटा बाबा का अनशन? : निशंक-आडवाणी और निशंक-रामदेव वार्तालाप सुनिए :  उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मीडिया वालों के सामने फोन पर आडवाणी और रामदेव से बातचीत की थी. यह बातचीत रामदेव के अनशन खत्म होने से ठीक पहले हुई.

सीएम की आडवाणी और रामदेव से हुई बातचीत को सुनेंगे तो एकबारगी यह जरूर लगेगा कि कहीं रामदेव का अनशन तुड़वाने का फैसला भाजपा के शीर्ष नेताओं ने तो नहीं लिया, जिसका पालन रामदेव ने किया. और, यह भी कि कहीं बाबा वाकई भाजपा और संघ के एजेंट त नहीं? हालांकि रामदेव पर भाजपा और आरएसएस का एजेंट होने का आरोप लगाकर कांग्रेस दरअसल करप्शन के खिलाफ मुहिम की हवा निकालने पर तुली हुई है और कांग्रेस की इस फूट डालो राज करो नीति की हम निंदा करते हैं पर संदेह तो संदेह है. आप भी सुनिए इस बातचीत को.

दुखद ये है कि किसी न्यूज चैनल ने इस वीडियो क्लीपिंग को अभी तक क्यों प्रसारित नहीं किया जबकि इस पूरी बातचीत से यह संदेश साफ जा रहा है कि भाजपा के लोग इस बात पर एकमत थे कि अनशन तोड़ दिया जाना चाहिए और बाबा ने अनशन तोड़ दिया. निशंक मोबाइल पर आडवाणी से बातचीत में उन्हें बार बार बाबूजी कहकर संबोधित कर रहे हैं. आप भी सुनिए इस बातचीत को और बताइएगा कि आपको यह बातचीत सुनकर क्या एहसास हो रहा है, क्या महसूस हो रहा है....

इन वीडियोज को देखने सुनने के लिए इन शीर्षकों पर क्लिक करें...

सीएम निशंक की आडवाणी के साथ बातचीत

सीएम निशंक की बाबा रामदेव के साथ बातचीत


AddThis