पंचायत करने गए पत्रकार को ग्रामीणों ने बनाया बंधक

E-mail Print PDF

यूपी के कांशीरामनगर में अकिंचन भारत के ब्‍यूरोचीफ बॉबी ठाकुर की जान उस समय सांसत में पड़ गई जब फर्रुखाबाद में ग्रामीणों ने उन्‍हें बंधक बनाकर पेड़ से बांध दिया. बेचारे गए थे मामला सुलझाने और खुद ही फंस गए. किसी तरह एक पत्रकार ने पुलिस को सूचना देकर उनकी जान बचाई. मौके पर पहुंची पुलिस ने बॉबी को आजाद कराया.

कांशीरामनगर नगर के अकिंचन भारत के ब्‍यूरोचीफ बॉबी ठाकुर को कुछ लोग एक मामले में पंचायत करने के लिए बुलाकर फर्रुखाबाद जिले के मोहम्‍मदाबाद थाने के सिमशेरपुर गांव लेकर गए थे. सूत्रों का कहना है कि इस पंचायत के लिए पार्टी उन्‍हें पांच हजार रुपये पर तय करके ले गई थी. पंचायत होते होते बात बढ़ गई और बॉबी ठाकुर ग्रामीणों को धमकाने लगे. पत्रकार होने का धौंस दिखाते हुए उन्‍होंने ग्रामीणों को धमकी दी कि सबको पुलिस से खदेड़वा दूंगा.

बॉबी के इस धमकी के बाद ग्रामीण नाराज हो गए. सभी ने मिलकर उन्‍हें तथा उनके साथी को एक पेड़ से बांध दिया तथा बंधक बना लिया. कुछ लोगों ने दोनों को एकाध थप्‍पड़ भी रसीद कर दिया. इसकी जानकारी जब एक पत्रकार को हुई तो उसने इसकी सूचना एसपी फर्रुखाबाद ओपी सागर को दी. जिसके बाद उन्‍होंने मोहम्‍मदाबाद पुलिस को मौके पर भेजा. पुलिस ने बॉबी को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाया. इस संदर्भ में जब बॉबी से बात की गई तो उन्‍होंने इस तरह की किसी घटना से इनकार करते हुए बहस होने की बात कही.


AddThis