जे डे हत्‍याकांड : छोटा राजन के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस की तैयारी

E-mail Print PDF

वरिष्ठ पत्रकार ज्योतिर्मय डे उर्फ जे डे हत्याकांड के मास्टरमाइंड अंडरवर्ल्ड सरगना छोटा राजन के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराने के लिए महाराष्ट्र सरकार सीबीआई से अनुरोध करेगी. यह जानकारी गृह मंत्री आरआर पाटील ने सोमवार को विधानसभा में दी. मुम्बई पुलिस ने छोटा राजन को डे हत्याकांड में मुख्य साजिशकर्ता के तौर पर आरोपी बनाया है.

जेडे हत्याकांड का मामला विधानसभा में उठने पर पाटील ने सदन को बताया कि पुलिस ने मामले में नौ लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि तीन अन्य फरार लोगों की तलाश जारी है. पाटिल ने कहा कि जल्द ही पुलिस आरोप पत्र पेश कर देगी.

डे की हत्या और पत्रकारों की सुरक्षा पर विधान सभा में जवाब देते हुए पाटिल ने कहा कि फोरेंसिक प्रयोगशाला में यह सिद्ध हो गया है कि डे के शरीर में मिली गोलियां आरोपियों से बरामद बंदूकों से ही चली थीं. पाटिल ने कहा कि सीबीआई से अंतर्राष्ट्रीय पुलिस संगठन इंटरपोल की सहायता से नोटिस जारी करने का अनुरोध किया जाएगा. इससे पहले भी राजन के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किए जाने की कवायद शुरू हुई थी.

गौरतलब है कि 'मिड डे' के वरिष्‍ठ पत्रकार एवं क्राइम रिपोर्टर ज्योतिर्मय डे की 11 जून को मुम्बई के पवई इलाके में गोली मारकर में हत्या कर दी गई थी. पुलिस जांच में यह तथ्य सामने आया कि छोटा राजन के इशारे पर हत्या की गई थी. माना जा रहा है कि राजन इन दिनों दक्षिण पूर्व एशिया के किसी देश में छुपा हुआ है.

पाटील ने यह भी बताया कि पत्रकारों पर हमले रोकने के लिए उद्योग मंत्री नारायण राणे की अध्यक्षता में गठित की गई कैबिनेट की उप-समिति एक महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंप देगी. उन्‍होंने यह भी स्‍पष्‍ट किया कि राणे को उप समिति से हटाने की पत्रकारों की मांग मुख्‍यमंत्री पृथ्‍वीराज चव्‍हाण ने खारिज कर दी है. नारायण राणे इस समिति की अध्‍यक्षता करते रहेंगे.

संयुक्त पुलिस आयुक्त (क्राइम) हिमांशु राय ने बताया कि पिछले दो महीने में पुलिस ने राजन गिरोह के करीब 15 लोगों को गिरफ्तार किया है.  इसमें डीके राव, बुकी विनोद असरानी, शूटर थानगप्पन उर्फ सतीश काल्या, उमेद-उल-रेहमान, अनिल वाघमोडे और आसिद शेख प्रमुख हैं. इसके बाद से छोटा राजन की स्थिति काफी कमजोर हो गई है.


AddThis