हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के पत्रकार भी अन्‍ना के समर्थन में अनशन पर बैठे

E-mail Print PDF

अन्ना हजारे के भ्रष्‍टाचार के खिलाफ जनलोकपाल लाए जाने के लिए चल रहे आंदोलन को सहयोग देने के लिए अब हरियाणा के पत्रकार भी खुलकर सामने आ गए हैं। इस क्रम में हिसार के पत्रकार हवासिंह शिवांश अपने पुत्र लोकेश शिवांश के साथ सोमवार को पुराना राजकीय कॉलेज के मैदान में अनशन पर बैठे। अनशन के दौरान हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स की हिसार जिला इकाई के पदाधिकारी तथा सदस्यों ने भी अन्ना हजारे के आंदोलन को अपना समर्थन देते हुए धरना दिया।

एचयूजे की प्रदेश इकाई के विशेष सचिव नरेश सेलपाड़ ने इस अनशन को सांकेतिक बताया तथा सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि अन्ना की मांगों को जल्द न माना गया तो यह अनशन 30 अगस्त के बाद अनिश्चितकालीन किया जा सकता है। उन्‍हों ने घोषणा की कि देश की भलाई तथा भ्रष्टाचार के खात्मे को लेकर चल रही लड़ाई में प्रत्येक व्‍यक्ति उस अन्‍ना के साथ है जो आम जनता के हितों को लेकर संघर्षरत हैं।

अनशनकारी हवासिंह शिवांश ने कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो 30 अगस्त के बाद जेल भरो आंदोलन में भी वे सबसे आगे रहेंगे। धरने-अनशन पर एचयूजे के वरिष्ठ उपप्रधान जगदीप श्योराण, सचिव महेंद्र सपरा, कोषाध्यक्ष सूर्या गोयल, महेश मेहता, बंसीलाल बासनीवाल, अशोक मोनालिसा, हुनेश्वर प्रसाद, कुलदीप रावलवासिया, प्रवीण त्यागी, रमेश वर्मा, सतपाल अग्रवाल, सुरेश शिवांश, अनिल भादू सहित अनेक पत्रकारगण मौजूद थे।

दूसरी तरफ हिमाचल प्रदेश के मध्‍य जोन मंडी में भी मंडी प्रेस क्‍लब के सदस्‍य भ्रष्‍टाचार के खिलाफ अन्‍ना के समर्थन में अनशन पर बैठे। पत्रकार समाजसेवी अन्ना हजारे के जन लोकपाल बिल को सही ठहराते हुए उनके अनशन का समर्थन करते हुए मंगलवार को 24 घंटों का अनशन किया। प्रेस क्लब की ओर से सोमवार को ही इस सिलसिले में आपातकालीन बैठक आयोजित की गई थी और यह तय किया गया था कि मंडी प्रेस क्लब के साथी न केवल सोमवार शाम को मंडी अंगेस्ट क्रप्शन के बैनर तले निकलने वाले कैंडल जलूस में शामिल होंगे, बल्कि मंगलवार को 24 घंटों की भूख हड़ताल भी करेंगे।

प्रेस क्लब की ओर से प्रधान और जनसत्ता के संवाददाता बीरबल शर्मा, उपप्रधान एवं दैनिक जागरण के ब्यूरो प्रभारी रणबीर ठाकुर, महासचिव एवं अमर उजाला के विधि संवाददाता समीर कश्यप, कोषाध्यक्ष एवं आपका फैसला के पत्रकार जतिंद्र कुमार, दैनिक भास्कर के ब्यूरो प्रभारी एवं लोक कवि विनोद भावुक, रजनी देवी ने ऐतिहासिक सेरी मंच पर सुबह 11 बजे अपना अनशन शुरू किया। उधर अन्ना के समर्थन में पिछले आठ दिनों से अनशन पर बैठे देश राज भी पूर्व पत्रकार हैं। वह लंबे समय तक दैनिक दिव्य हिमाचल के जिला प्रभारी रहे हैं, वहीं शिमला और दिल्ली में पंजाब केसरी में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं।


AddThis