तेलंगाना आंदोलन में हॉकर भी कूदे, लोगों को नहीं मिल रहा अखबार

E-mail Print PDF

हैदराबाद।। आंध्र प्रदेश के हैदराबाद और सिकंदराबाद में गुरुवार को लोगों को न्यूज पेपर नहीं मिले। लोगों के घरों तक समाचार पत्र पहुंचाने वाले हॉकर भी पृथक तेलंगाना राज्य की मांग के समर्थन में चल रहे आंदोलन में कूद पड़े हैं। गुरुवार को हॉकरों ने न्यूज पेपर्स का वितरण नहीं किया। राजधानी हैदराबाद की किताबों की दुकानों और न्यूज पेपर स्टैंड्स से अंग्रेजी, तेलुगू, उर्दू व हिंदी के अखबार गायब रहे।

सिकंदराबाद के क्लॉक टॉवर में तनाव की स्थिति रही। दरअसल यहां पुलिस ने न्यूज पेपर्स हॉकरों को राज्य विधानसभा भवन के नजदीक स्थित तेलंगाना शहीद स्मारक तक एक मोटरसाइकिल रैली निकालने से रोक दिया। पुलिस ने हॉकरों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए सिकंदराबाद के क्लॉक टॉवर पहुंचे तेलंगाना संयुक्त कार्रवाई समिति (जेएसी) के समन्वयक एम. कोडानडरम को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने अपने नेता की गिरफ्तारी के विरोध की कोशिश कर रहे कुछ प्रदर्शनकारियों को भी हिरासत में लिया। कोडानडरम ने पुलिस अधिकारियों से कहा, ''यह अनुचित है। आप अनावश्यक परेशानी खड़ी कर रहे हैं। मुझे उन्हें सम्बोधित करने दीजिए, इसके बाद हम चले जाएंगे।''

दूसरी ओर पुलिस निषेधाज्ञा लागू होने की बात कह रही थी। उन्होंने कोडानडरम को जबरदस्ती एक पुलिस की गाड़ी में बैठाया और उन्हें बोवनपल्ली पुलिस थाने ले गए। उनके पीछे बड़ी संख्या में तेलंगाना समर्थक भी पुलिस थाने पहुंच गए और उन्होंने उनकी रिहाई की मांग की। इस बीच तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) प्रमुख के. चंदशेखर राव ने कोडानडरम की गिरफ्तारी की निंदा की है और उन्हें तुरंत रिहा किए जाने की मांग की है। राव ने सरकार को तेलंगाना के लोगों को न भड़काने की चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि ऐसा हुआ तो सरकार इसके परिणामों के लिए जिम्मेदार होगी। साभार : एनबीटी


AddThis