साध्वी और पत्रकार ने शादी की

E-mail Print PDF

बदायूं निवासी जाने माने स्‍वतंत्र पत्रकार बीपी गौतम और आध्यात्मिक जगत की बड़ी हस्ती व मुमुक्षु आश्रम की प्रबंधक साध्वी चिदर्पिता विवाह के पवित्र बंधन में बंध गये हैं, जिससे मुमुक्षु आश्रम छोडऩे के बाद से चल रही तमाम अटकलों पर विराम लग गया है। साध्वी चिदर्पिता का कहना है कि वह विवाह बंधन में बंधने के बाद भी गंगा, गाय, पीपल, महिलाओं व हिंदुओं की रक्षा के साथ सर्व समाज व देश हित में कार्य करती रहेंगी।

उन्‍होंने कहा कि वह शीघ्र ही अपने चुनाव क्षेत्र बिल्सी विधान सभा क्षेत्र में आश्रम स्थापित कर आध्यात्मिक जागरुकता का केन्द्र बनायेंगी। विवाह कर के उन्‍होंने भारत की प्राचीन ऋषि परंपरा का ही निर्वहन किया है, इसलिए लोगों को विवाह को लेकर किसी तरह की चर्चा नहीं करनी चाहिए। विवाह से उनके उद्देश्य या लक्ष्य पर किसी तरह का कोई दुष्प्रभाव नहीं पडऩे वाला।

साध्वी चिदर्पिता ने कहा कि एक पिता अपने बच्चे का निस्वार्थ भाव से पालन करता है या एक माली पेड़ की देखभाल निस्वार्थ भाव से करता है, उसी तरह वह भी निस्वार्थ भाव से ही राजनीति में आ रही हैं, ताकि चुनाव जीत कर व्यथित या शोषित आम आदमी की आवाज बुलंद कर सकें। सवाल पर उन्होंने कहा कि उनकी प्रकृति भाजपा से मिलती है, इसलिए टिकट भाजपा से ही मांग रही हैं, लेकिन उनका उद्देश्य जनभावना के अनुसार चुनाव लडऩा है, जो वह हर स्थिति में लड़ेंगी।

इसके अलावा साध्वी चिदर्पिता ब्लॉग भी लिखती हैं व फेसबुक पर बेहद चर्चित चेहरा हैं। उधर बीपी गौतम के पत्रकार होने के कारण यह विवाह पत्रकारों के बीच बेहद चर्चा का विषय बना हुआ है। बीपी भी पत्रकारिता के जाने माने चेहरे हैं तथा विभिन्‍न अखबारों तथा न्‍यूज पोर्टलों पर अपनी दमदार उपस्थिति बनाए रखते हैं।


AddThis