भदोही में हिंदुस्‍तान के ब्‍यूरोचीफ एवं संवाददाता में धक्‍का-मुक्‍की व गाली ग्‍लौज

E-mail Print PDF

: दोनों ने अपने इस्‍तीफे भेजे : हिंदुस्‍तान के ज्ञानपुर-भदोही कार्यालय में मंगलवार को ब्‍यूरोचीफ एवं एक रिपोर्टर के बीच जमकर वाकयुद्ध तथा धक्‍कामुक्‍की हुई. गुस्‍सा में दोनों लोगों ने अपने-अपने इस्‍तीफे भी भेज दिए. इसके बावजूद संवाददाता तो बुधवार को कार्यालय आए पर नाराज ब्‍यूरोचीफ छुट्टी पर रहे. आज दशहरा के चलते कार्यालय बंद है. हालांकि इस खबर की चर्चा पूरे ज्ञानपुर-भदोही में जोरशोर से है.

सूत्रों का कहना है कि पिछले कई दिनों ब्‍यूरोचीफ प्रभुनाथ शुक्‍ला और रिपोर्टर राजेश मिश्रा के बीच तनाव चल रहा था. मंगलवार को सायं सात बजे के आसपास ये दोनों लोग किसी बात को लेकर एक दूसरे से सवाल-जवाब कर रहे थे. अचानक बात बिगड़ गई. दोनों लोग तेज आवाज में एक दूसरे पर आरोप लगाने लगे. आरोप लगाते लगाते मामला एक दूसरे को देख लेने तथा गाली ग्‍लौज तक पहुंच गया. इन दोनों लोगों के बीच धक्‍का मुक्‍की भी होने लगी. बात और बिगड़ती इसके पहले ही अन्‍य सहयोगियों ने दोनों को अलग-अलग कर दिया.

इसके बाद ताव खाए दोनों लोगों ने अपने-अपने इस्‍तीफे भेज दिए. ब्‍यूरोचीफ प्रभुनाथ शुक्‍ला ने अपना इस्‍तीफा संपादक अनिल भास्‍कर के पास मेल किया तो राजेश मिश्रा ने अपना इस्‍तीफा प्रधान संपादक शशि शेखर समेत कई अन्‍य लोगों को भेज दिया. सूत्रों का कहना है कि सारा मामला पैसे के विवाद को लेकर था. दोनों लोग एक दूसरे की टेरेटरी में हस्‍तक्षेप से परेशान थे, लिहाजा मंगलवार को पूरा गुब्‍बार बाहर निकल आया. इस संदर्भ में जब ब्‍यूरोचीफ प्रभुनाथ शुक्‍ला से बात की गई तो उन्‍होंने आपसी मामला बताकर फोन रख दिया. जबकि राजेश मिश्रा का फोन नॉट रिचेबल बताता रहा.

इस संदर्भ में जब हिंदुस्‍तान, वाराणसी के संपादक अनिल भास्‍कर से बात की गई तो उन्‍होंने ज्ञानपुर-भदोही से किसी का इस्‍तीफा मिलने से इनकार किया. उन्‍होंने कहा कि इस तरह का कोई इस्‍तीफा उनके पास नहीं भेजा गया है. उन्‍होंने कहा कि अभी वो लखनऊ में थे, कोई ऐसी बात नहीं हुई है.


AddThis