गोरखपुर जर्नलिस्‍ट प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष बने एसपी सिंह

E-mail Print PDF

: अजीत कुमार उपाध्‍यक्ष तथा मनीष मंत्री चुने गए : जर्नलिस्ट प्रेस क्लब, गोरखपुर की नवीन कार्यकारिणी का चुनाव रविवार को हुआ, जिसमें एसपी सिंह अध्यक्ष, अजीत कुमार यादव उपाध्यक्ष एवं मनीष कुमार मिश्रा मंत्री चुने गए। चुनाव को लेकर प्रेस क्लब पर सुबह से ही भारी गहमा-गहमी रही। सुबह नौ बजे से मतदान शुरु हुआ। तीन बजे तक चले मतदान में कुल 554 में से 474 मतदाताओं ने वोट डाले।

अपराह्न चार बजे से मतगणना शुरु हुई और लगभग सायं 6.30 बजे परिणामों की घोषणा की गई। एसपी सिंह को 186 मत प्राप्त हुए। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी मृत्युंजय शंकर सिन्हा को 60 मतों से पराजित किया। अध्यक्ष पद पर मृत्युंजय को 126, अरविंद शुक्ला को 99, एसके सिंह को 51, कामेश्वर उपाध्याय को 3 मत मिले, जबकि 9 मत अवैध पाए गए। उपाध्यक्ष पद पर अजीत कुमार यादव सर्वाधिक 349 मत पाकर विजयी रहे। दूसरे स्थान पर अखिलेश शर्मा को 119 मिले तथा 6 मत अवैध रहे। मंत्री पद पर प्रत्याशियों में सीधी टक्कर रही। इसमें मनीष कुमार मिश्रा को सबसे अधिक 247, द्वितीय स्थान रहे मार्कण्डेय मणि को 219 मत मिले। इस पद के लिए 8 मत अवैध रहे।

पुस्तकालय मंत्री के लिए डीके गुप्ता को 251, अजय राय को 188, अशोक सिंह को 30 वोट मिले तथा 5 मत अवैध रहे। कार्यकारिणी सदस्य के तीन पदों पर सर्वेश त्रिपाठी 216, रवीश श्रीवास्तव 172 तथा राजेश पाण्डेय ने 150 मत पाकर जीत हासिल की। वहीं आशीष भट्ट को 149, अनिल राय को 122, विनीत कुमार को 128, धर्मेन्द्र त्रिपाठी को 44, चंदन को 16 तथा विवेक कुमार अस्थाना को 47 लोगों ने वोट किया, जबकि 14 मत अवैध रहे। बतातें चलें कि कोषाध्यक्ष पद पर डॉ. अरुण कुमार राय तथा संयुक्त मंत्री के लिए नरेन्द्र कुमार तिवारी पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं।

मतदान व मतगणना, चुनाव अधिकारी राजन राय, सहायक चुनाव अधिकारी बृजेन्द्र कुमार सिंह, अभिनव उपाध्याय, बृजबिहारी लाल श्रीवास्तव एडवोकेट तथा विधि सलाहकार विवेक कुमार राय के नेतृत्व में संचालित हुआ। सायंकाल परिणाम आने के बाद मीडिया कर्मियों एवं समर्थकों ने विजयी प्रत्याशियों को फूलमालाएं पहनाई, अबीर-गुलाल उड़ाया तथा मिठाईयां बाटकर बधाई दी। इस चुनाव की खास बात यह रही कि मठाधीश पूरी तरह चित हो गये और दूसरी बार चुनाव में उतरने वालो को वोटरों ने नकार दिया। महत्‍वपूर्ण यह भी रहा कि किसी भी बडे़ मीडिया घराने से कोई पत्रकार चुनाव में नहीं उतरा । दैनिक जागरण, अमर उजाला, हिंदुस्तान और राष्ट्रीय सहारा से एक भी पत्रकार चुनाव मैदान में बडे़ पदों पर नहीं उतरा।


AddThis