जो काम प्रणय रॉय को करना चाहिए, वो अब आम भारतीय को करना पड़ रहा है

E-mail Print PDF

Alok Kumar : आप ख़ुद ही देख लीजिए.. इस प्रदर्शन को लीड कर रहे एक आईआईएमसी छात्र को पुलिस परेशान कर रही है, वीडियो देखने के लिए क्लिक करें- Barkha Dutt chor hai, Barkha Dutt (NDTV) ko jail me daalo said Indians at India Gate...

Rajesh Roshan : लड़के को परेशान किया जा रहा है??? बरखा केवल मानहानि का दावा ठोंक सकती हैं, बकिया लगता नहीं है कुछ होगा....और जो लड़का ये कर सकता है मुझे नहीं लगता है कि वो परेशान हो रहा होगा

Rajesh Roshan : i dont know about this youtube user but if this guy is who shout yesterday, may be idealogicaly motivated by 'Right wing'check his youtube page http://www.youtube.com/user/abhishekutkarsh

Sachin Gaur : राजेश जी..राइट विंग विचारधारा का होना क्या किसी ऐसे व्यक्ति का विरोध करने पर पाबंदी लगाता है जिसकी साख पर बट्टा लगा हो और मामले की जांच दब गई हो..दूसरे नजरिए से बरखा दत्त और अन्य पत्रकारों को भी यह पूरा अधिकार है कि वे राइट विंग सदस्यों से कड़े सवाल पूछें और वो पूछते भी हैं..

Sushil Jha : बाप रे बाप....सब एकदम्मे कड़ा लिख रहा है मानो देश में बदलाव का ट्विस्टर बोले तो बवंडर चल रहा हो...

Alok Kumar : वो कौन था, उसका वैचारिक झुकाव किधर है, इन सबसे परे बस कोई ये बताए कि बरखा क्या विरोध करने लायक नहीं हैं..

Sushil Jha : विरोध करने लायक तो हम भी हैं..बहुत्ते लोग मेरा भी विरोध कर रहे हैं..हाय हाय मैं बडा आदमी कब बनूंगा जब लोग मेरा भी विरोध करेंगे...

Alok Kumar : सिर्फ़ बड़ा आदमी बनने से विरोध नहीं होगा...उसके लिए राडियापना भी करना पड़ेगा

Sushil Jha : फिर रहने तो वो अपने बस की नहीं..हम तो सोचे कि ईमानदारी के नाम पर विरोध करवा लें.

Rama प्रकाश Sinha : Govt.bhi Anna aur deshwasion ki baat ko maan li....lekin Prannoy Roy apne hi ivory tower mein hain...BD should be immediately thrown out...or should hv been..but such r the ways of ppl who think they r holier than thou...

Santosh Pandey : In todays india if you ask any question as a concerned citized..some medial like NDTV immediately label you as right wing. This only shows the mental bankruptcy of media.

Kartik Mehta : Its time that there is media accountability as well like Judiciary, members from polity, members from civil service. They being ought under Lok Pal, RTI act. Radia tapes have shown what a great some journalists are over the phone and their wheeling and dealings. If MP has to resign, a Civil Service officer can e sacked, a Judge can be impeached why not a Journalist can be removed from his post.

Sushil Jha : मीडिया के जर्नलिस्ट को आप इसलिए पद से नहीं हटा सकते क्योंकि वो निजी कंपनियों के लिए काम करता है....सिविल सर्विस ज्यूडिसियरी आदि आदि नहीं है.. इसलिए उस पर ये सरकारी impeachment आदि लागू नहीं होता है..मीडिया को गरियाना आसान काम है.. कोई ये क्यों नहीं बताता कि किस तरह पत्रकारों का भी शोषण होता है......उनसे किस तरह मालिक लोग विज्ञापन लाने के लिए कहते हैं....जवाबदेही तय होनी है मीडिया कि तो पत्रकारों नही बल्कि चैनल मालिकों और अख़बार के मालिकों का गिरेबान पकड़ा जाए.....पत्रकार तो अभी भी (कुछ बड़े लोगों को छोड़कर) शोषित है...12 घंटे 15 घंटे काम करता है...और कई बार बहुत कम तनख्वाह पर..जो मालिक कहते हैं वो दिखात है...

Adarsh Sharma : barkha dutt chorni hai

Isha Bose : rama,fill me up girl !! what is this all about?

Alok Kumar : सुशील जी... बात भी उन्हीं की हो रही है... ऐसे ही लोग इमानदार पत्रकारों का शोषण भी करते हैं.. बरखा ये भी कर चुकी है..

Simran Gupta : ji hume bhi ye pata hai alok ji shayad aapne hi bataya tha

Anuranjan Jha : [email protected] बाबू, आलोक .. दोष कई स्तर पर है। पत्रकार भी जब पैसे बनाने के लिए इसे अपनाएंगे तो भोगेगा कौन ? रही बात किसी को हटाने की तो वो तो जरुर होना चाहिए। आप जिसपर भरोसा करते हैं औऱ उससे भरोसा उठता है तो ठेस लगती है । यहां मौजूद नौजवानों का व...See more

Alok Kumar : हां सर, एक फ़र्क मीडिया में व्याप्त भ्रष्टाचार के साथ ये रहा कि बाहरी दुनिया बावजूद इसके इसे पाक-साफ और कर्तव्यपरायण समझती रही लेकिन अब आम लोग भी चैनलों पर चल रहे कार्यक्रमों और कुछ पत्रकारों के खुद खबर बन जाने से गुस्से में है..भूत प्रेत से परेशान व्यक्ति को जब पता चले कि अमुक पत्रकार या मीडिया संगठन भ्रष्ट भी है तो नफरत और गुस्से का भयानक समागम होता है और ऐसे में बिल्कुल कोई भी हो बच नहीं सकता... शायद इसी की परिणति इंडिया गेट पर देखने को मिली...

Alok Mishra : sahi kah rahe hai sir

Anuranjan Jha : आलोक .. हम सब शुरु करते हैं अपनी संपत्ति की घोषणा से यह काम..

Alok Mishra : bilkul sir lakin suraat kase ki jaye aur kaya aapki ya hamri baat aaj ke netaoo ko raas aayegi sir

Alok Kumar : ‎Anuranjan Jha- लेकिन किसके सामने किया जाए... फेसबुक पर ही... शुरू कर दें क्या

Rajendra Jha : ‎99% log corrupt haii hamree yahan pe......Kuch nahi ho sakta yahn..jab tak siksha ka sstarr uuchaa aur uske sangh jab sab apne vote ka matlab samajh jayenge then might be it work..Till then............

Ashraf Khan : जो काम प्रणय रॉय को करना चाहिए. वो अब आम भारतीय को करना पड़ रहा है.

Rajesh Kumar : pls patrakarita ko dhandha na banaye ....warna ham nagrik subah ka akhbar padhna chor denge....apke chhanel ko kaun puchta hai....hamare pas tv remote hai.......!!!!

Suraj Kumar Sinha : bilkil sahi kaha Barkha ke programmme dekhne ka man nahi karta uspar Ghin aati hai.. thu thu..

Sushil Jha : सूरज़- मत देखिए जो कार्यक्रम पसंद नहीं है...चैनल बदल दीजिए....लेकिन थूकने का अधिकार नहीं है किसी पर भी किसी को.......

फेसबुक पर बहस जारी है. इस बहस के नए कमेंट देखने या करने या पार्टिशिपेट करने के लिए क्लिक करें- आलोक कुमार स्टेटस

इसको भी पढ़ सकते हैं- नारा तो बरखा रूपी बोझ ढेने वाले डा. प्रणय राय के खिलाफ लगाया जाना चाहिए


AddThis
Comments (0)Add Comment

Write comment

busy