एजुकेशन जंगल खोलेगा शिक्षा जगत के गोरखधंधे का सच

E-mail Print PDF

शिक्षा का बढ़ता व्‍यवसाय, छात्र तथा अभिभावकों का शोषण आम बात है. कुकुरमुत्‍तों की तरह तमाम छात्रों को बेहतर शिक्षा देने की बजाय बस पैसे उगाह रहे हैं. छात्र एवं अभिभावक सभी परेशान हैं पर भविष्‍य के डर से लोग सब कुछ देख सुनकर भी चुप रह जाते हैं. टीस बस उनके दिल में ही छिपी रह जाती है.

मीडिया घराने भी शिक्षण संस्‍थानों से मिलने वाले एड के चलते शिकायतों के बाद चुप्‍पी साधे रहते हैं, जिससे इनका मनोबल और अधिक बढ़ता जाता है. पर अब अभिभावक अपनी आवाज उठा सकते हैं. वो भी बिना किसी डर और भय के. इसके लिए कुछ युवाओं ने लांच किया है वेबसाइट एजुकेशन जंगल. जिसमें यूनिवर्सिटी, कॉलेज, स्‍कूल के लूट खसोट को उजागर किया जाएगा. इन पर अंकुश लगाने के लिए इनके खिलाफ आवाज उठाया जाएगा.

इस वेबसाइट के संपादक के अनुसार इस वेबसाइट का मकसद शिक्षा जगत में विभिन्‍न तरीके से हो रहे शोषण को सबके सामने लाने का है. इसके माध्‍यम से हम छात्र, शिक्षक, अभिभावकों की आवाज उन जगहों तक पहुंचाएंगे, जिन जगहों तक लोगों की आवाज नहीं पहुंच पा रही है. कारण की पूरा तंत्र मिला हुआ है. संस्‍थानों से लेकर अधिकारियों तक सब मिलजुलकर बांट खा रहे हैं. शिक्षा के नाम पर बस व्‍यवसाय हो रहा है कि कैसे भी हो पैसा आना चाहिए. अब कोई भी परेशान छात्र, अभिभावक, शिक्षक अपनी बात हम तक पहुंचा सकता है. जो खबर अब तक बाउंड्री के अंदर थी वो सबके सामने आएगी.


AddThis