बेरोजगारी की वजह से एक्टर बन गया : मुकुल देव

E-mail Print PDF

'कमर्शियल पायलट की ट्रेनिंग पूरी की लेकिन बेरोजगारी की वजह से एक्टर बन गया। मिमिक्री बचपन से करता था लेकिन एक्टिंग की तरफ कोई खास ध्यान नहीं था। मैने पॉकेट मनी के लिए मॉडलिंग शुरू की और कुछ अच्छे लोगों ने फिल्मों में ब्रेक दे दिया और उसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा।'  ये बातें कही एक्टर मुकुल देव ने सीएनईबी के शो जब वी मेट में।

महेश भट्ट के टीवी शो 'मुमकीन'  में पहला ब्रेक मिलने के बाद तनुजा चंद्रा के निर्देशन में 'दस्तक' फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखने वाले मुकुल देव ने बेबाकी से कहा कि 'तनुजा चंद्रा ने मुझे डंडे मार-मार कर एक्टिंग कराई और आज एक्टर के तौर पर जो भी हूं सब उन्हीं की बदौलत है।'  मुकेल देव ने एक सवाल के जवाब में कहा कि मैंने जितनी भी फिल्में की उनमें मेरे योगदान को उतना महत्व नहीं मिला जितना मिलना चाहिए था लेकिन यह भाग्य का खेल है।

यमला पगला दीवाना के बारे में मुकुल देव ने एक मजेदार वाक्या सुनाते हुए बताया कि यह फिल्म मेरे भाई राहुल देव को मिली थी लेकिन उन्होंने कहा कि मेरे परिवार में एक ही बदमाश है, जो इस रोल को कर सकता है और उसे मिमिक्री भी आती है और यह फिल्म मुझे मिल गई। फिल्में चुनते  समय रोल और स्क्रिप्ट को महत्व देने वाले वाले मुकुल देव ने कहा कि मैं आज भी फिल्मों को गंभीरता से नहीं लेता,  लेकिन मैं इसे बोझ समझकर भी नहीं करता और मैं ऐसी फिल्में करना चाहता हूं जिसमें मौज-मस्ती हो।

हिंदी के साथ तेलगू फिल्में में भी एक्टिंग करने वाले राहुल देव ने साउथ और बॉलीवुड की फिल्मों में अंतर को बताते हुए कहा कि टेक्निक और सिनेमाटोग्राफी में साउथ की फिल्में आगे हैं लेकिन स्क्रिप्ट और कंटेंट के मामले में वे अभी भी नब्बे के दशक में हैं। मुकुल देव को अमिताभ, दिलीप कुमार और नसीरूद्दीन शाह बेहद पसंद है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जब आप ऐसे बड़े लोगों के साथ काम कर रहे होते हैं तो अपने आप आपके अंदर का बेहतरीन निकल कर आता है। सीएनईबी के इस शो का प्रसारण 10 जुलाई को रविवार दोपहर 2:30 बजे होगा और इसका दोबारा प्रसारण शुक्रवार दोपहर 2:30 बजे को होगा। प्रेस रिलीज


AddThis