गूगल बज की सेवाएं होंगी बंद, ऑनलाइन म्‍यूजिक स्‍टोर खोलने की तैयारी

E-mail Print PDF

गूगल ने शुक्रवार को अपनी विवादास्पद सोशल नेटवर्किंग सेवा गूगल बज व कई अन्य सेवाओं को आने वाले सप्ताहों में बंद करने की घोषणा की। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक गूगल ने अपने आधिकारिक ब्लॉग पर अपने कोड सर्च इंजन, बज, यूजर को दोस्तों के अपडेट देने वाली जैकू सेवा, आईगूगल व गूगल सर्च के लिए यूनीवर्सिटी रिसर्च प्रोग्राम बंद करने की घोषणा की।

गूगल ने पिछले महीने की शुरुआत में ही अपनी कुछ सेवाएं बंद करने की घोषणा की थी। कम्पनी ने कहा था कि वह अपनी कुछ सेवाएं बंद कर देगी तो कुछ को अन्य मौजूदा सेवाओं के साथ जोड़ देगी। गूगल ने अपने ब्लॉग पर लिखा, ''बदलती दुनिया में हमें भविष्य पर ध्यान देना है और भूत के प्रति ईमानदारी बरतनी है। हमने बज जैसे उत्पादों से बहुत कुछ सीखा है और उस सीख का हम हर दिन हमारे गूगल प्‍लस जैसे उत्पादों के प्रति अपने दृष्टिकोण में इस्तेमाल कर रहे हैं। हमारे उपभोक्ता हमसे बहुत बेहतरीन उत्पादों की उम्मीदें रखते हैं। आज की घोषणा हमें उपभोक्ताओं के लिए कुछ अद्भुत पेश करने की ओर केंद्रित करती है।''

जीमेल सेवा से जुड़ी सोशल नेटवर्किंग व मैसेजिंग सेवा गूगल बज की उपभोक्ता की निजता को लेकर चिंतओं के चलते काफी आलोचना हुई थी, जिसके चलते गूगल को अपनी इस सेवा को वापस लेना पड़ा। कंपनी की तरफ से कहा गया है कि बज के बाद गूगल ने जून में गूगल प्‍लस सेवा पेश की थी। इस सेवा को अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है।

एक तरफ जहां गूगल ने बज को बंद कर दिया है वहीं दूसरी तरफ वो ऑन लाइन म्यूजिक स्टोर लांच करने की तैयारी कर रहा है। हालांकि ऑनलाइन म्यूजिक की बढ़ती प्रतिस्पर्धा में गूगल को बाजार में पहले से जमें एप्पल इंक और अमेजन डॉट कॉम के म्यूजिक स्टोर की चुनौती का सामना करना पड़ेगा। इस संबंध में गूगल की चार मुख्य म्यूजिक कंपनियों से बातचीत जारी है। सूत्रों के मुताबिक फिलहाल सिर्फ ईएमआई ग्रुप से गूगल किसी करार के नजदीक है। ईएमआई से कैटी पेरी, गोरिल्लाज और पिंक फ्लायड जैसे कलाकार जुड़े हैं। अन्य तीन मुख्य म्यूजिक कंपनियों में यूनिवर्सल म्यूजिक ग्रुप, सोनी और वॉर्नर म्यूजिक ग्रुप शामिल हैं।


AddThis