पंकज की दो फिल्में एनआरआई फिल्म फेस्टिवल में

E-mail Print PDF

अजीजन मस्तानीपत्रकार से फिल्ममेकर बने पंकज शुक्ल की दो शॉर्ट फिल्में जनवरी में दिल्ली में होने जा रहे प्रवासी फिल्म समारोह यानी एनआरआई फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शन के लिए चयनित हुई हैं। इन फिल्मों के नाम हैं 'अज़ीजन मस्तानी' और 'बहुरुपिया'। कुशाग्र क्रिएशंस के बैनर तले बनी इन फिल्मों के निर्माता शरद मिश्र हैं और इनकी परिकल्पना भी इन्हीं की। पंकज के अलावा मीरा नायर और निर्देशकद्वय राज निदिमोरु-कृष्णा डीके की भी दो-दो फिल्में इस समारोह में शामिल की गई हैं।

नई दिल्ली के इंडिया हैबिटाट सेंटर में तीन जनवरी से छह जनवरी 2010 तक चलने वाले इस फिल्म समारोह में दिए जाने वाले पुरस्कारों का विमोचन एक दिसंबर को होटल सम्राट में मॉरीशस के राष्ट्रपति अनिरुद्ध जगन्नाथ करने जा रहे हैं। मॉरीशस की सरकार इस फिल्म समारोह को पूरा सहयोग भी दे रही है। निर्देशक पंकज शुक्ल ने अपनी दो शॉर्ट फिल्मों के चयन पर खुशी ज़ाहिर करते हुए बताया कि इन दोनों फिल्मों से ही अप्रवासी भारतीयों और भारतीय मूल के विदेशी नागरिकों को अपने देश के इतिहास और संस्कृति के बारे में अनदेखे और अनजाने तथ्यों से परिचित होने का मौका मिलेगा।

पंकज ने बताया कि फिल्म अजीजन मस्तानी कानपुर की एक गुमनाम स्वतंत्रता सेनानी अजीजन बाई के देश के प्रति समर्पण और उसके संघर्ष की कहानी है जबकि फिल्म बहुरुपिया देश की एक विलुप्तप्राय लोक कला की बानगी है। इन दोनों फिल्मों का निर्देशन करने के अलावा पंकज ने इन फिल्मों की पटकथा भी लिखी है।


AddThis