प्रवासी भारतीय को कनाडा का शीर्ष साहित्य पुरस्कार

E-mail Print PDF

टोरंटो : भारतीय मूल के एक कनाडाई लेखक को इस देश में साहित्य क्षेत्र के शीर्ष पुरस्कार गवर्नर जनरल के लिटरेरी अवार्ड से नवाजा गया है। टोरंटो में रहने वाले मोएज गुलाम हुसैन वासनजी ने अपनी पुस्तक 'एक प्लेस विदिन: रिडिस्कवरिंग इंडिया' के लिए 25 हजार अमेरिकी डॉलर का पुरस्कार जीता है। पुरस्कार के निर्णायक मंडल ने इस पुस्तक पर टिप्पणी करते हुए कहा- यह यह विस्तृत संस्मरण है जो संस्कृति, स्मृति, पहचान और इतिहास के व्यापक दायरे को प्रदर्शित करता है।

ओटावा स्थित कनाडा काउंसिल फॉर आर्टस और कनाडा के गवर्नर जनरल मिशेल जीन सर्वश्रेष्ठ कनाडाई साहित्यिक कृति को सम्मानि करते हैं, जिन्हें गल्प, यथार्थ, कविता, नाटक, बाल साहित्य और अनुवाद की श्रेणियों में पुरस्कार दिया जाता है। जाने-माने भारतीय अमेरिकी नेता राजन जेद ने वासनजी को यह सम्मान जीतने के लिए बधाई दी। केन्या में 1950 में जन्में और तंजानिया में पले-बढ़े 59 साल के वासनजी ने परमाणु विज्ञानी के तौर पर करिअर की शुरूआत की थी। वे 1978 में कनाडा आ गए। उन्हें उनके उपन्यासों के लिए दो बार गिलर पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। साभार : जनसत्ता


AddThis