यूएनआई : भंडारी से भड़के कर्मी, सुफल का तबादला

E-mail Print PDF

हिंदी समाचार एजेंसी यूएनआई के वरिष्ठ पत्रकार सुफल कुमार को वाराणसी का ब्यूरो चीफ बनाया गया है. वे पहले भी बनारस में यूएनआई के लिए काम कर चुके हैं. बाद में उन्हें दिल्ली बुला लिया गया था. सुफल यूएनआई में दो दशक से ज्यादा वक्त से हैं.

इस बीच, यूएनआई से ही खबर है कि प्रधान संपादक और महाप्रबंधक अरुण कमार भंडारी के खिलाफ कर्मियों ने मोर्चा खोल दिया है. सेलरी मिलने में लगातार हो रही देरी व समाचार एजेंसी में बढ़ती अंदरुनी समस्याओं से आजिज यूएनआई कर्मचारी संगठन के लोगों ने भंडारी को अल्टीमेटम दे दिया है कि वे खुद इस्तीफा दे दें अन्यथा उनके खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा. यह फैसला पिछले दिनों यूएनआई कर्मियों के संगठन की एक बैठक में आम सहमति से लिया गया.

यूएनआई कर्मचारी संगठन से जुड़े लोगों का कहना है कि भंडारी जब आए थे तो सेलरी करीब बीस या पच्चीस दिन देरी से मिलती थी. अब फासला बढ़ाकर चार-पांच महीने का हो गया है. साथ ही वे प्रशासनिक, बिजनेस और कंटेंट, सभी लेवल पर कुछ खास नहीं कर पाए हैं.


AddThis