हुर्रे!!!! अमेरिका में तो नेट ने न्यूजपेपर्स की हवा निकाल दी

E-mail Print PDF

'पेव इंटरनेट एंड अमेरिकन लाइफ प्रोजेक्ट' की ओर से अमेरिका में एक सर्वे कराया गया. इस सर्वेक्षण में लोगों की मीडिया व खबरों के प्रति रुचि व रुख को परखा गया. सर्वे के नतीजे बता रहे हैं कि खबरों के स्रोत के मामले में इंटरनेट ने अब अखबारों को पछाड़ दिया है. इस सर्वे के नतीजे सोमवार को जारी किए गए. इस अध्ययन के मुताबिक ज्यादातर अमेरिकी नागरिक खबरों के लिए अखबार या रेडियो की जगह इंटरनेट का उपयोग करते हैं. पर टीवी न्यूज अब भी खबरों का लोकप्रिय स्रोत बना हुआ है.

'पेव इंटरनेट एंड अमेरिकन लाइफ प्रोजेक्ट' द्वारा कराए गए सर्वेक्षण से पता चलता है कि रेडियो समाचार सुनने वाले 54 प्रतिशत और अखबार पढ़ने वाले 50 प्रतिशत लोगों की तुलना में 61 प्रतिशत अमेरिकी समाचार स्रोत के रूप में इंटरनेट का उपयोग करते हैं. सर्वेक्षण में शामिल 78 प्रतिशत लोगों ने बताया कि वे टेलीविजन पर समाचार देखते हैं. रिपोर्ट में पाया गया है कि सर्वेक्षण में शामिल 92 प्रतिशत लोग समाचारों के लिए एक से अधिक स्रोतों का उपयोग करते हैं. इनमें ट्विटर और फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स, रेडियो, टेलीविजन और समाचार पत्र शामिल हैं. समाचारों के लिए गूगल न्यूज, याहू न्यूज और एओएल जैसे पोर्टल्स के अलावा बीबीसी, न्यूयार्क टाइम्स और सीएनएन की साइट्स देखी जाती हैं.


AddThis
Comments (1)Add Comment
mayan bhaiya ji
written by ankit deshu, March 02, 2010
Dear mayank,aap ne bahut acha likha hai sadhna institute ke bare mai.mai pich le 2 saal pahele bhugt chuka hoon....70,000 fasane ke baad bhi...aur abhi tak interns ship mai he atka hua hoon ..abi ibn7 se 2 mahine ka intns kiya hai ..es se pahle,lok shabha chanel, mai intrn ke dhakke kha chuka hoon....din mai ek baar he khana khata hoon.....en logon ko kuch farak nahi padta.....hum ne case kar ke bhe dekh liya...aap khud socho ki her saal 1000 students pass out hote hain ye log kis-kis ko job dainge...aur enke pas zhoot bol ne ke sivay aur koi chara nahi bacha hai...to dost aap sab bool jawo...to acha hoga.....vaise mai aa se mil chuka hooon aapne ana naam mayank bataa hai aur naam apka kuch aur hai kyonki aap abhi tak institute nmai he hain...aur students mai lokpreyeh hai aap ke vicharoon se mai samz gaya aap kaun hai..aap waan us samay naye aaye the....aur lambi chute gaye the intern karne ke liye......pls muzse mil na....

Write comment

busy