अमरउजाला डाट काम के कायाकल्प की तैयारी

E-mail Print PDF

अमर उजाला प्रबंधन देर से जगा है. इन्हें अब समझ में आ चुका है कि अमरउजाला डाट काम को 'एयू' फांट की बजाय हर जगह देखे-पढ़े जाने में सक्षम आधुनिक यूनीकोड में कनवर्ट किया जाए. अभी अगर कोई अमर उजाला डाट काम खोलता है और उसके कंप्यूटर पर अमर उजाला का 'एयू' फांट इंस्टाल नहीं है तो इस वेबसाइट को पढ़ नहीं सकता. उसे अमर उजाला डाट काम से एयू फांट डाउनलोड कर अपने कंप्यूटर में इंस्टाल करना पड़ता है. तकनीक के कम जानकार कई लोग यह काम नहीं कर पाते, सो, वे खबरों के लिए दूसरी वेबसाइटों पर चले जाते हैं. जो जानकार हैं, वे भी फांट डाउनलोड के झंझट से बचते हुए किसी और साइट की ओर सरक लेते हैं.

दूसरे अखबारी घराने अपनी-अपनी वेबसाइटों को ट्रेडीशनल फांटों से जाने कबके मुक्त कर चुके हैं. दूसरे मीडिया हाउस वेब माध्यम के भविष्य व इसकी उपयोगिता को अच्छी तरह समझते हैं. इसीलिए वे वेब व इंटरनेट सेक्शन को सुगठित, पुनर्गठित कर सबसे आगे निकलने की होड़ में कूद चुके हैं. खासकर भास्कर डाट काम इन दिनों जबर्दस्त तरीके से अपडेट किया जा रहा है. भास्कर डाट काम को प्रमोट करने के लिए दैनिक भास्कर अखबार में बड़े-बड़े आकर्षक विज्ञापन भी प्रकाशित किए जा रहे हैं. भास्कर समूह अपने वेब पोर्टल को आज के युवाओं के इंतजार न करने की आदत से जोड़कर मार्केट कर रहा है. 

एनबीटी, हिंदुस्तान, प्रभात खबर, दैनिक जागरण, राजस्थान पत्रिका समेत कई अखबार अपने पोर्टलों पर खूब जोर दे रहे हैं. जागरण ने तो अपने कर्मियों को आनलाइन तौर पर इंगेज रखने और उनके लिखे का व्यावसायिक उपयोग करने के लिए एक ब्लाग पोर्टल बना दिया है, जागरण जंक्शन डाट काम नाम से. इसी समूह के टैबलायड अखबार आई-नेक्स्ट के वेब पोर्टल पर जबर्दस्त तरीके से काम चल रहा है. आई-नेक्स्ट के वेब पोर्टल को युवाओं का सबसे पसंदीदा पोर्टल बनाने की योजना है. इसी तरह हिंदुस्तान अखबार के लोगों के लिए भी प्रबंधन ने एक ब्लाग पोर्टल बनाया है जिस पर इस अखबार से जुड़े कई वरिष्ठ-कनिष्ठ लोग लिखते रहते हैं. पर अमर उजाला प्रबंधन अपने पोर्टल को लेकर कोई खास चिंतित नहीं दिखा, ब्लाग की बात तो दूर है.

पर अब लगता है कि अमर उजाला डाट काम का उद्धार होने वाला है. पूरी साइट को यूनीकोड में कनवर्ट कर अमर उजाला डाट काम का नया अवतार लाने की तैयारी हो गई है. इसका विज्ञापन भी अमर उजाला डाट काम पर दिखने लगा है. हालांकि आज दोपहर अमर उजाला डाट काम का बेटा वर्जन खोलने पर सर्वर इरर दिखा रहा था. पर इसे अब ठीक किया जा चुका है. नया टेंपलेट आकर्षक है. उम्मीद करते हैं कि अमर उजाला प्रबंधन प्रिंट की तरह वेब सेक्शन पर भी आने वाले दिनों में ज्यादा दिमाग खर्च करेगा. अमरउजाला डाट काम के बेटा वर्जन को आप यहां क्लिक कर देख सकते हैं- अमरउजाला


AddThis